MP विधानसभा का शीतकालीन सत्र में हुआ खुलासा, सरकार पर है करोड़ों का कर्ज

भोपाल। मध्यप्रदेश विधानसभा शीतकालीन सत्र (MP Vidhan Sabha Winter Session) दूसरे दिन मंगलवार को जारी रहा। इस दौरान विधानसभा में विधायक प्रताप ग्रेवाल ने सरकार के कर्ज के बारे में बताया। दरअसल, उनके सवाल पर वित्त मंत्री जगदीश देवड़ा ने लिखित में जवाब दिया। उन्होंने सदन के माध्यम से विधायक को बताया कि मध्यप्रदेश पर 2,53,335 करोड़ रुपए का कर्ज है। एमपी में वित्तीय वर्ष 2021-22 में कुल 14 हजार करोड़ रुपए का कर्ज लिया गया है। इस तरह मध्यप्रदेश पर अब तक कुल 2,53,335 करोड़ रुपए का कर्ज है।

ALSO READ: बड़ी खुशखबरी: सोया तेल के भाव में आई गिरावट, जाने छावनी मंडी में आज के भाव

वित्त मंत्री ने इस चालू वित्तीय वर्ष में कब-कब कर्ज लिया गया इसकी जानकारी दी। वही उनके अनुसार 14 जुलाई 2021 को राज्य सरकार ने 7 फीसदी ब्याज दर पर 2 हजार करोड़ का लोन लिया। उन्होंने बताया कि, 1 सितंबर 2021 को राज्य सरकार ने 5.99 प्रतिशत की ब्याज दर पर 2 हजार करोड़ रुपए का लोन लिया है। 15 सितंबर 2021 को राज्य सरकार ने 6.85 प्रतिशत ब्याज दर पर 2 हजार करोड़ रुपए का लोन लिया। 22 सितंबर 2021 को राज्य सरकार ने 6.85 फीसदी ब्याज दर पर 2 हजार करोड़ का लोन लिया।

इसके बाद 27 अक्टूबर 2021 को मध्यप्रदेश सरकार (MP) ने 6.85 फीसदी ब्याज दर पर 2000 करोड़ का लोन लिया। 2 नवंबर 2021 को मध्यप्रदेश सरकार ने 6.85 फीसदी ब्याज दर पर 2 हजार करोड़ का लोन लिया। 17 नवंबर 2021 को मध्य प्रदेश सरकार ने 6.99 फीसदी ब्याज दर पर 2 हजार करोड़ का लोन लिया गया है।

इस दौरान बीजेपी विधायक यशपाल सिसोदिया के सवाल पर वित्त मंत्री जगदीश देवड़ा का लिखित में जवाब आया। उन्होंने जवाब में बताया कि दिसंबर 2021 की स्थिति में राज्य जीएसटी विधान के 4 हजार 775 प्रकरणों में 1164 करोड़ 34 लाख रुपए बकाया हैं। जीएसटी विधान के पूर्व के अधिनियमों में 2 लाख 66,989 प्रकरणों में 5141 करोड़ 22 लाख रुपए बकाया हैं।