प्रवासी भारतीय दिवस को अविस्मरणीय, अदभुत और यादगार बनाया जायेगा- शिवराज सिंह चौहान

प्रवासी भारतीय दिवस 2023 के संबंध में भारत सरकार एवं मध्यप्रदेश शासन के मध्य साइन हुआ एमओयू

इंदौर: मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि इंदौर में होने वाले प्रवासी भारतीय दिवस की सभी तैयारियाँ समय पर पूर्ण कर ली जाएँ। सम्मेलन का आयोजन बेहतर ढंग से हो। मध्यप्रदेश की उपलब्धियों की ब्रांडिंग का यह अच्छा मौका है। इंदौर को पूरी तरह सजा कर रखा जाए। इंदौर स्वच्छता में नम्बर -1 है। इसकी छवि अतिथियों के समक्ष रखें।

मुख्यमंत्री चौहान मंत्रालय में प्रवासी भारतीय दिवस के सम्मेलन की तैयारियों की समीक्षा कर रहे थे। भारत सरकार के सचिव, अपर सचिव, मुख्य सचिव इकबाल सिंह बैंस, अपर मुख्य सचिव स्वास्थ्य मोहम्मद सुलेमान, प्रमुख सचिव संस्कृति एवं पर्यटन शिव शेखर शुक्ला सहित वरिष्ठ अधिकारी मौजूद रहे तथा इंदौर से कलेक्टर मनीष सिंह वर्चुअली बैठक में शामिल हुए।

Must Read: इंदौर लोकायुक्त पुलिस ने की ट्रैप कार्यवाही, भ्रष्टाचार संशोधित अधिनियम के तहत दर्ज किया प्रकरण

बैठक में जानकारी दी गई कि वर्ष 2003 में पहला प्रवासी भारतीय दिवस मनाया गया था। अब तक 16 प्रवासी भारतीय दिवस हो चुके हैं। इंदौर में यह 17 वाँ भारतीय दिवस सम्मेलन 8 से 10 जनवरी 2023 तक होना प्रस्तावित है। राष्ट्रपति द्वारा प्रवासी भारतीय सम्मान समापन समारोह में दिए जाएंगे।

मुख्यमंत्री चौहान ने वीडियो कॉफ्रेंसिंग द्वारा इंदौर कलेक्टर मनीष सिंह से व्यवस्थाओं की जानकारी ली। उन्होंने कहा कि यह सुनिश्चित किया जाए कि कार्यक्रम में प्रवासी भारतीय अधिकाधिक संख्या में आएँ। मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि प्रवासी भारतीय सम्मेलन का भव्य आयोजन हो। बैठक में आयोजन संबंधी एमओयू हस्ताक्षरित कर आदान-प्रदान किया गया। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि सम्मेलन को अविस्मरणीय, अदभुत और यादगार बनायें।