प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि (Pradhan Mantri Kisan Samman Nidhi) की किस्तें पाने वाले लाभार्थी किसानों के लिए एक नया अपडेट जारी हुआ है. केंद्रीय कृषि एवं किसान कल्याण मंत्रालय ने नियमों में कुछ बदलाव किए हैं, जिन्हें लाभार्थी किसानों को मानना अनिवार्य है. इस मामले में उत्तर प्रदेश के अपर मुख्य सचिव, कृषि डॉ. देवेश चतुर्वेदी ने सभी जिलाधिकारियों, जिलों के मुख्य विकास अधिकारियों और सभी कृषि उप निदेशकों को निर्देश भी जारी कर दिए हैं. डेडलाइन 31 जनवरी रखी गई है. अब यदि प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना के लाभार्थी बने रहना चाहते हैं तो ई-केवाईसी, बैंक खाते की आधार सीडिंग, लैंड रिकॉर्ड का वेरिफिकेशन जैसे तमाम औपचारिकताओं को 10 दिन के अंदर पूरा कर लें.

गवर्मेंट ने जारी किए दिशा निर्देश

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, उत्तर प्रदेश सरकार ने भी इस संबंध में गाइडलाइन जारी कर दी हैं. अब प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना का लाभ लेने वाले किसानों को इन 4 नियमों का पालन करना होगा. इसी आधार पर निर्धारित किया जाएगा कि किसान के खाते में 13वीं किस्त के 2,000 रुपये ट्रांसफर किए जाने है या नहीं. यूपी के करीब 1.48 करोड़ किसानों ने ई-केवाईसी करवा ली है. 65 लाख किसानों ने भूआलेखों का सत्यापन करवा लिया है. 1.64 करोड़ किसानों ने बैंक खाते की आधार सीडिंग करवा ली है, लेकिन अभी भी बड़ी तादात में लाभार्थी किसानों ने इनमें से कोई भी काम पूरा नहीं किया है.

योजना की  13वीं किस्त के 4 पैरामीटर

आप भी प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना के लाभार्थी है तो 31 जनवरी तक इन 4 कामों को पूरा कर लें. इन कामों को पूरा करने के बाद ही आपका नाम 13वीं किस्त पाने वाले किसानों की सूची में शामिल किया जाएगा.

Also Read – कंगाली के बाद बदले पाकिस्तान के सुर, कहा- हम सबक सीख चुके, चलिए बैठकर बात करें