बीपीएससी की परिक्षा में आलू-प्याज बेचने वाले की बेटी को मिली 307 वीं रैंक, तीसरी बार में कि एक्जाम पास

सारण जिले के मढौरा खुर्द की रहने वाली जूही कुमारी ने बिहार लोक सेवा आयोग (बीपीएससी ) की 66वीं परीक्षा पास कर की है।

सारण जिले के मढौरा खुर्द की रहने वाली जूही कुमारी ने बिहार लोक सेवा आयोग (बीपीएससी ) की 66वीं परीक्षा पास कर की है। बीपीएससी भर्ती का रिजल्ट जारी होने के बाद से ही परिवार में खुशियों का उजाला छा गया है। जूही की तीन बहन और एक भाई है जिसमें वह सबसे छोटी हैं। उसके पिता अनिरुद्ध प्रसाद गुप्ता आलू प्याज के थोक विक्रेता हैं, वह मढौरा में आलू प्याज बेचकर अपनी सबसे छोटी बेटी को पढ़ाने का हर सम्भव प्रयास करते हैं और कदम-कदम पर सहारा देकर उत्साह बढ़ाने का काम करते हैं।

लोगों को अक्सर प्याज रूलाने का काम करता हैं। लेकिन इसी बीच बिहार से एक हंसाने वाली खबर आई हैं। जी हां एक बेटी ने बिहार लोक सेवा आयोग की परिक्षा 307वीं रैंक के साथ पास की जिसके बाद पिता की खुशी का ठिकाना नहीं रहा।

गौरतलब है कि, जैसे ही पिता को बेटी के पास होने की खबर मिली तो उनकी खुशी का ठिकाना नहीं रहा और वह भावुक होकर रोने लगे। उन्हेंने कहा कि, बेटी पर बहुत गर्व है। जूही की इंटरमीडिएट तक पढ़ाई मढौरा में हुई जबकि ग्रेजुएशन छपरा से हुई है। वह दो बार मेन्‍स की परीक्षा में असफल होने के बाद तीसरे अटेम्‍प्‍ट में सफल हुई हैं। जूही ने परीक्षा में 307वीं रैंक हासिल की है।

Also Read : भारतीय रेलवे : बिहार में लापरवाही की ट्रेन, जानी थी समस्तीपुर निकल पड़ी गाजीपुर, दो अधिकारी निलंबित

जूही ने अपनी सफलता के लिए अपने बड़े भाई को प्रेरणा स्त्रोत बताते हुए अपने पिता द्वारा कदम-कदम पर हिम्मत बढ़ाने वाला बताया। लगातार BPSC में असफलता के बावजूद उनके पिता ने जूही की हिम्मत को टूटने नही दिया जिसका रिजल्‍ट आज BPSC में जूही की सफलता है.

बीपीएससी ने कंबाइड 66th भर्ती परीक्षा का रिजल्‍ट 04 अगस्‍त को जारी किया है. कुल 685 अभ्यर्थी परीक्षा में सफल हुए हैं। सुधीर कुमार परीक्षा में टॉपर बने हैं. इस वर्ष टॉपर्स के बीच नंबरों का अंतर भी काफी कम रहा है. विस्‍तृत रिजल्‍ट देखने के लिए आधिकारिक वेबसाइट bpsc.bih.nic.in चेक करें।