खुलकर खेलो यार, कोई किसी को याद नहीं रखता, खुद की पहचान बनाएं

मामा-मामा कहते जो जनता दौड़कर आती है ये सालों की भरोसे की कमाई है, शिवराज की प्रशंसा के साथ चुनावी बिगुल फूंक गए भाजपा अध्यक्ष

राजेश ज्वेल

भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा (J.P Nadda) अपने सहज स्वभाव के कारण पार्टी दिग्गजों के साथ आम कार्यकर्ता को भी अभिभूत कर गए। पार्टी कार्यालय पर हुई बैठक में उन्होंने जहां सोशल इंजीनियरिंग(Social Engineering) का मंत्र फूंका, वहीं 2023 के विधानसभा चुनाव की तैयारियों का बिगुल भी बजा गए और जाते-जाते बोले कि खुलकर खेलो यार कोई किसी को याद नहीं रखता और अपनी खुद की पहचान बनाओ जब जनता मामा-मामा कहकर दौड़ पड़ती है तो यह विश्वास की कमाई सालों में अर्जित होती है, जो शिवराज ने हासिल की है।

दरअसल नड्डा जब मुख्यमंत्री के साथ इंदौर की सड़कों पर निकले तो जगह-जगह स्वागत मंचों से उनका भव्य सम्मान तो हुआ ही, वहीं जनता मामा-मामा कहकर शिवराज के प्रति भी आकर्षित नजर आई और ये बात भाजपा अध्यक्ष ने नोट की और फिर इसका उदाहरण पार्टी कार्यालय पर आयोजित बैठक में दिया। कल इंदौर, उज्जैन, देवास में भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा के कार्यक्रम आयोजित हुए। मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान ने जहाँ दोपहर एयरपोर्ट पर राष्ट्रीय अध्यक्ष का स्वागत किया फिर दिन भर साथ रहने के बाद रात में उन्हें एयरपोर्ट पर विदाई भी दी।

Read More : बजट भाषण के बीच विपक्षियों ने बरपाया हंगामा, यहां पढ़ें पूरा बजट

शहर भाजपा अध्यक्ष गौरव रणदीवे, जिलाध्यक्ष राजेश सोनकर, संभाग प्रभारी भगवानदास सबनानी से लेकर जीतू जिराती इस पूरे आयोजन की बागडोर संभाले रहे। प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा ने 65 हजार से अधिक बूथों पर किए गए बूथ विस्तार योजना की जब जानकारी दी गई तो इसे पूरे देश के लिए नड्डा ने लागू करने की बात कही और बोले कि वैसे भी मध्यप्रदेश का संगठन इस तरह के नवाचार और कार्यों की प्रयोगशाला रहा है।

उन्होंने पदाधिकारियों के साथ हुई बैठक में भी दो टूक कहा कि खुद की पहचान बनाओ, कोई किसी को याद नहीं रखता , प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का उल्लेख करते हुए नड्डा ने कहा कि वे जब मन की बात करते हैं तो देश की पूरी जनता , हर वर्ग से जुड़ते हैं, उसी तरह हमें भी समाज के हर वर्ग से सीधा जुडऩा है ,कोई भी वर्ग अछूता ना रहे। नड्डा ने मोदी के साथ-साथ अमित शाह, नितिन गडकरी, राजनाथ सिंह जैसे दिग्गजों को भी फॉलो करने और उनके ट्वीट को रीट्वीट करने की भी सलाह दी। इंदौर में 300 से अधिक स्वागत मंचों से नड्डा का भव्य स्वागत हुआ। हालांकि इसके चलते जगह-जगह जाम के कारण नागरिकों को परेशानी भी हुई।

Read More : ट्रेन के इंजन पर चढ़ गया एक सिरफिरा, करंट की चपेट में आने से झुलसा, वीडियो वायरल

20 करोड़ 35 लाख अब तक बैंक खातों में जमा-

भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा को प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा व अन्य पदाधिकारियों ने बूथ विस्तार के अलावा 150 करोड़ रुपए की जो आजीवन सहयोग निधि जमा की जा रही है, उसकी भी जानकारी दी और बताया कि 20 करोड़ 35 लाख रुपए तो अब तक बैंक खातों में जमा भी हो चुके हैं। हालांकि 40 से 50 करोड़ रुपए की राशि एकत्रित की जा चुकी है। माइक्रो डोनेशन पर अवश्य मध्यप्रदेश में अभी उतना अधिक काम नहीं हो पाया है, जिसका टास्क मोदी ने दिया जिसमें 10 रु से लेकर हजार रु तक की राशि ऑनलाइन जनता से जमा करवाना है ताकि समाज का हर तबका जुड़ सके

इवेंट मैनेजमेंट कंपनी को सौंपा जिम्मा-

कार्पोरेट कल्चर में रच-बस गई भाजपा के अब सारे बड़े आयोजन इवेंट मैनेजमेंट कम्पनियां संभालती है। इंदौर भाजपा कार्यालय को सजाने-संवारने से लेकर स्वागत मंचों और तमाम व्यवस्थाएं भी निजी इवेंट मैनेजमेंट कम्पनी को ही सौंपी गई। नगर अध्यक्ष गौरव रणदीवे द्वारा की गई इन व्यवस्थाओं की मुख्यमंत्री सहित सभी पदाधिकारियों ने जमकर प्रशंसा की और खुद नड्डा भी कार्यकर्ताओं की इस तरह भागीदारी देख दंग रह गए।

कैलाश विजयवर्गीय इसलिए नहीं रहे मौजूद-

भाजपा के कद्दावर इंदौरी नेता कैलाश विजयवर्गीय कल राष्ट्रीय अध्यक्ष के पूरे आयोजन के दौरान मौजूद नहीं रहे जिसको लेकर राजनीतिक गलियारों में कई तरह की चर्चाएं चलती रही. उसका कारण यह बताया गया कि विजयवर्गीय को उत्तराखंड की जिम्मेदारी सौंपी गई है, दरअसल एग्जिट पोल में उत्तराखंड में भाजपा और कांग्रेस की सीटें लगभग समान बताई गई है, लिहाजा सरकार बनाने के लिए जोड़-तोड़ सहित अन्य उपाय करना होंगे जिसके चलते विजयवर्गीय ने उत्तराखंड में डेरा डाला और कल वह ऋषिकेश थे, इसकी जानकारी उन्होंने अपने सोशल मीडिया अकाउंट के जरिए दी भी है।