देश की स्थिति से हताश इमरान खान, कहा- ऐसे तरक्की नहीं कर पाएगा पाकिस्तान

इमरान खान ने कहा कि अगर लोगों को यह विश्वास हो जाए कि उनके टैक्स का पैसा शासकों की आलीशान जीवनशैली के बजाय कल्याणकारी कार्यों में खर्च किया जाएगा तो लोग टैक्स भरने लगेंगे।

0
69
imran khan

नई दिल्ली: पाकिस्तान की आर्थिक स्थिति को लेकर वहां के प्रधानमंत्री इमरान खान हताश नज़र आ रहे है। बुधवार को उन्होंने ऐसी स्थिति पर चिंता जताते हुए कहा कि ऐसे देश कभी तरक्की नहीं कर पाएगा। इमरान खान ने कहा कि अगर कर राजस्व बढ़ाने के लिए कदम नहीं उठाए गए तो देश को गंभीर आर्थिक मुश्किलों का सामना करना पड़ सकता है.

प्रधानमंत्री कार्यालय में केंद्रीय राजस्व बोर्ड के अधिकारियों को इमरान खान ने संबोधित किया। इस दौरान उन्होंने एफबीआर के शीर्ष नेतृत्व को पाकिस्तान रेवेन्यू अथॉरिटी में तब्दील करने की योजना को लेकर भरोसे में लिया और कहा कि बिना उनके परामर्श के कोई एक्शन प्लान लागू नहीं किया जाएगा।

इमरान खान ने कहा कि अगर लोगों को यह विश्वास हो जाए कि उनके टैक्स का पैसा शासकों की आलीशान जीवनशैली के बजाय कल्याणकारी कार्यों में खर्च किया जाएगा तो लोग टैक्स भरने लगेंगे। सरकार के पास जनता पर खर्च करने के लिए पैसे ही नहीं है क्योंकि उसे विरासत में ही राजस्व घाटा मिला था।

एफबीआर के अधिकारियों को कारोबारी समुदाय में भरोसा जगाने के लिए और टैक्स मशीनरी को लेकर उनका डर दूर करने संबंधी कदम उठाने का इमरान खान ने निर्देश दिया है। इमरान ने आगे कहा कि
8 ट्रिलियन टैक्स का लक्ष्य मुश्किल नहीं है लेकिन इसके लिए सभी लोगों को इसे अपनी राष्ट्रीय जिम्मेदारी समझना होगा और इस लक्ष्य को पूरा करने के लिए काम करना हर किसी को अपना कर्तव्य समझना चाहिए।

गौरतलब है कि पाकिस्तान में टैक्स कलेक्शन हमेशा से एक बड़ी समस्या रही है। सरकार की तमाम कोशिशों के बावजूद वहां की जनता टैक्स भरने के लिए आगे नहीं आ रही है। ख़ास बात तो ये है कि पाकिस्तान की सर्कार ने अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष की शर्तों के मद्देनजर 2019-20 के लिए 5.5 ट्रिलियन का राजस्व वसूली का लक्ष्य रखा है जो फिलहाल असंभव लग रहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here