पाकिस्तान की फिर अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर बेज्जती, UNSC की क्लोज-डोर मीटिंग में नहीं मिली एंट्री

जम्मू-कश्मीर में धारा 370 हटाए जाने के बाद बौखलाया पाकिस्तान लगातार इस मुद्दे को अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर उठा रहा है। इसी के चलते उसने संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद को एक पत्र लिखकर कश्मीर में भारत सरकार द्वारा की गई कार्रवाई पर आपत्ति जताते हुए इस पर मीटिंग बुलाने की मांग की थी।

0

जम्मू-कश्मीर में धारा 370 हटाए जाने के बाद बौखलाया पाकिस्तान लगातार इस मुद्दे को अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर उठा रहा है। इसी के चलते उसने संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद को एक पत्र लिखकर कश्मीर में भारत सरकार द्वारा की गई कार्रवाई पर आपत्ति जताते हुए इस पर मीटिंग बुलाने की मांग की थी। वहीं पाक की इस आपत्ति पर चीन ने भी पाक का समर्थन करते हुए क्लोज-डोर मीटिंग कराए जाने की बात कही थी। लेकिन खास बात ये है कि इस मीटिंग की मांग करने वाले पाकिस्तान को ही इसमें प्रवेश नहीं मिला है।

वहीं यूएनएससी की इस मीटिंग पाक को एक और झटका लगा है। बता दे कि कश्मीर मसले को लेकर रूस ने भारत का समर्थन किया है। रूस की ओर से सिर्फ द्विपक्षीय बातचीत का ही समर्थन किया गया है।

बता दे कि ये दूसरी बाद है जब यूएन को दूसरी बाद कश्मीर मसले को लेकर बैठक करना पड़ रही है। इस मुद्दे पर पहली बैठक 1971 में की गई थी। मालूम हो यूएनएससी में सदस्यों की संख्या 15 है, जिसमें से 5 स्थायी और 10 अस्थायी सदस्य हैं।