एक बार फिर इंदौर ने रचा इतिहास, 2.5 लाख से ज्यादा श्रद्धालुओं ने लिया शिवमहापुराण का आनंद

विशाल नगर मैदान अन्नपूर्णा रोड पर आयोजित कथा वाचक पं. प्रदीप मिश्रा की शिवमहापुराण में जनसमूह उमड़ पड़ा था। यहां प्रतिदिन हजारों की संख्या में श्रद्धालु पहुंचकर कथा का आनंद ले रहे थे।

विशाल नगर मैदान अन्नपूर्णा रोड पर आयोजित कथा वाचक पं. प्रदीप मिश्रा की शिवमहापुराण में जनसमूह उमड़ पड़ा था। यहां प्रतिदिन हजारों की संख्या में श्रद्धालु पहुंचकर कथा का आनंद ले रहे थे। वहीं इसी दौरान इंदौर ने इतिहास रच दिया। दरअसल, 2.5 लाख से ज़्यादा भक्तो ने शिव महापुराण कथा सुनी। वहीं पंडित मिश्रा ने कथा के दौरान ही भक्तो को निवारण के उपाय भी बताए। जिसमे संकटों को दूर करने और मनोकामना को पूरा करने के तरीके शामिल है। वहीं श्रद्धालु भी उनके द्वारा बताए गए उपायों को करने में कोई कमी नहीं छोड़ रहे हैं।

 

View this post on Instagram

 

A post shared by Indore Viral News (@indoreviralnews)

शिवरात्रि शिवमहापुराण कथा के आखिरी दिन भी श्रद्धालुओं की भीड़ अन्नपूर्णा रोड के विशाल नगर पंडाल में उमड़ पड़ी। जानकारी के लिए बता दें संस्था लक्ष्य द्वारा आयोजित कार्यक्रम में सीहोर वाले पंडित प्रदीप मिश्रा की शिव महापुराण कथा का आयोजन 24 जुलाई से 30 जुलाई तक प्रतिदिन दोपहर 2 बजे से शाम 5 बजे तक किया गया था। आयोजक भरत पटवारी के मुताबिक कुल ढ़ाई लाख श्रद्धालुओं ने इस कथा का आनंद लिया।

Also Read – नेपाल : राजधानी काठमांडू में भूकंप के झटके, 5.5 मापी गई तीव्रता, बिहार के कुछ क्षेत्रों में भी असर

इंदौर में पंडित प्रदीप मिश्रा बता रहे संकट दूर करने के उपाय, बनेंगे बिगड़े काम

आयोजक भरत पटवारी ने बताया कि पंडित प्रदीप मिश्रा कथा के दौरान तरीके भी बता रहे है। साथ ही बिल्वपत्र आदि के माध्यम से भक्तों को विभिन्न समस्याओं के निवारण के बारे में बताते हैं। कथा में पंडित मिश्रा ने कहा कि सिर पर लितक लगाने व हाथ में जल का कलश लेकर मंदिर जाने में शर्म कैसी। लोगो का काम है हसना, लेकिन हमारा काम है भोले की भक्ति में मग्न हो जाना। हमें तो शिव की आराधना से मतलब है। वो सब देख रहा है।इसके साथ ही कथा में भक्तों को सावन मास में शिव की पूजा-अर्चना करने के कई उपाय व पूजा पद्धति बताई।