नितिन गडकरी का दावा, अगले 5 साल में America जैसी सड़क और महाकाल की नगरी में चलेगी एयर टैक्सी

भोपाल। केंद्रीय परिवहन मंत्री नितिन गडकरी (Nitin Gadkari) ने मध्यप्रदेशवासियों (MP) को बड़ी सौगात दी है। बता दें कि, मंत्री ने एमपी को 11 सड़के उपहार दी है। साथ ही उन्होंने प्रदेश की आर्थिक राजधानी इंदौर (Indore to Hydrabad) से हैदराबाद तक एक्सप्रेस-वे (Express way) बनाने की घोषणा की। उन्होंने महाकाल की नगरी उज्जैन (Ujjain) में आयोजित एक कार्यक्रम में उन्होंने 534 किलोमीटर लंबी सड़कों का शिलान्यास किया। आपको बता दें कि, ये सड़कें 6247 करोड़ रुपए की लागत से बनाई जाएंगी जो की प्रदेशवासियों के लिए एक बहुत बड़ी उपलब्धि है।

ALSO READ: IND vs SL 1st T20: India ने Sri Lanka को चटाई धूल, दी 62 रन से मात, ये Record भी किया अपने नाम

वहीं आज शिलान्यास कार्यक्रम में केंद्रीय परिवहन मंत्री नितिन गडकरी (Nitin Gadkari) ने कहा कि, अगले 5 साल में मध्यप्रदेश की सड़कें अमेरिका की सड़कों की तरह होंगी। अगले 5 सालों में महाकाल की नगरी उज्जैन में एयर टैक्सी चलेगी। 30 से 40 किलोमीटर तक श्रद्धालु एयर टैक्सी के जरिए मंदिर जा सकेंगे। साथ ही उन्होंने इस दौरान चंबल नदी में फ्लाइंग बोट चलाने की भी बात कही। नितिन गडकरी ने कहा कि, इंदौर से हैदराबाद एक्सप्रेस हाइवे की लागत 15 हजार करोड़ होगी।

साथ ही उन्होंने यह भी बताया कि, अगली बार इंदौर आने पर इसका भूमि पूजन होगा। आपको बता दें कि, ये एक्सप्रेस वे बुरहानपुर, जलगांव होकर नांदेड़ होते हुए हैदराबाद तक जाएगा और इसकी लंबाई करीब 768 किमी होगी। नितिन गडकरी ने कहा कि, “मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने हवा में बस चलने की बात कही, वो असंभव नहीं है। उत्तराखंड में 16, हिमाचल में 15 रोप-वे बना रहे हैं और महाकाल की नगरी उज्जैन में फ्लाईओवर की जगह लाइट रेल और एयरपोर्ट की तरह बस पोर्ट भी बना सकते हैं। आप मुझे प्रस्ताव भेजें।”

ALSO READ: अमेरिका में भारतीय कपड़ा व्यवसाय को बढ़ावा देगा ग्लोबल टेक्सटाइल ट्रेड फेयर

इस दौरान नितिन गडकरी (Nitin Gadkari) ने आगे कहा कि, राजधानी दिल्ली से मुंबई एक्सप्रेस-वे का निर्माण किया जा रहा हैं। मुझे खुशी है कि मध्यप्रदेश में हम 12 हजार करोड़ रुपए का एक्सप्रेस हाईवे बना रहे हैं। आपको यह जानकर ख़ुशी होगी कि, यह हाईवे उज्जैन से मुंबई 8 घंटे में और उज्जैन से दिल्ली 6 घंटे में पहुंच सकेंगे। 25 हजार करोड़ रुपए की लागत से मध्यप्रदेश में तीन ग्रीन एक्सप्रेस-वे हाईवे बना रहे हैं और 1 लाख करोड़ रुपए की लागत से दिल्ली-मुंबई एक्सप्रेस-वे का निर्माण किया जा रहा है।