साल के परिवर्तन के साथ मध्य प्रदेश में मौसम तेजी से बदल गया है। पूरे प्रदेश में सोमवार को कड़ाके की ठंड लगना शुरू हो गई है। इसके साथ ही मौसम विभाग ने पूर्व एमपी में भारी बारिश होने की संभावना जाहिर की है। इसके बाद अगर पश्चिम विभोक्ष और मजबूत होता है तो ओले गिर सकते है। हालांकि, रविवार को भी पूरे प्रदेश में घना कोहरा देखा गया। ऐसे में लोग अब काम से ही बाहर निकलना पसंद कर रहे हैं। वहीं उन्हें अलाव का भी सहारा लेना पड़ रहा है।

6 जनवरी तक हो सकती है बारिश

मौसम वैज्ञानिकों के मुताबिक, बीते रविवार को भोपाल, ग्वालियर, चंबल, बुंदेलखंड और बघेलखंड में घना कोहरा छाया रहा। वही ग्वालियर-चंबल बेल्ट अब भी कड़ाके की ठंड की चपेट में है। अगली 5 और 6 जनवरी तक मावठ (बारिश) हो सकती है। यह जबलपुर से प्रवेश होकर भोपाल के आसपास इलाकों में बारिश हो सकती है।

रात में 5 डिग्री से निचे तापमान

वही ग्वालियर-चंबल में रात का पारा 5 डिग्री के नीचे, तो इंदौर और भोपाल में यह 9 डिग्री तक आ सकता है। इनके साथ और कई इलाकों में तापमान 4 डिग्री तक जा सकता है, लेकिन यह संभावना पश्चिमी विक्षोभ पर निर्भर करेगी। अभी तीन दिन भोपाल में 8-9 डिग्री तापमान आ जाएगा।

Also Read : साल 2023 में इन 5 स्टॉक्स में लगाएं पैसा, बन जाएंगे करोड़ो के मालिक

बता दें, प्रदेश में नॉर्थ इस्टरली विंड के कारण ठंड बढ़ सकती है। नॉर्थ में बर्फबारी होती है, तो यह फिर स्ट्रांग हो जाने से तापमान में भारी गिरावट हो सकती है। अभी उत्तर में बहुत ज्यादा बर्फबारी नहीं होने के कारण सिस्टम स्ट्रांग नहीं हो पा रहा है।

भोपाल ठंड की गिरफ्त में

देश के कुछ इलाकों में लागातार बारिश और बर्फबारी का दौर जारी है। इसकी वजह से एमपी की राजधानी भोपाल ठंड की गिरफ्त में आ गया है। बीते रविवार की अलसुबह करीब ढ़ाई घंटे तक भोपाल शहर के चारो ओर घना कोहरा छाया रहा। एयरपोर्ट रोड पर जहां यह 200 मी. थी, तो होशंगाबाद रोड पर 1000 मी. के आसपास. ढाई घंटे ऐसा ही नजारा दिखता रहा। कोहरे के साथ ही ठंडी हवा भी चली, जिससे तापमान गिर गया। दोपहर 3:30 बजे पारा 23 डिग्री था, जो रात 11:30 बजे 11.4 डिग्री पर आ गया।

मौसम विशेषज्ञ पीके साहा ने बताया कि भोपाल में यह इस सीजन का पहला घना कोहरा था। अभी तक शहर में धुंध और कोहरे का सिलसिला चल रहा था। उन्होंने बताया कि जब वातावरण में नमी ज्यादा हो और हवा की रफ्तार कम हो, तो कोहरा छाता है। रविवार सुबह के वक्त शहर में ऐसा ही हुआ। सुबह 92% नमी थी, हवा की रफ्तार भी बहुत कम थी।