मध्य प्रदेश में मौसम का मिजाज परिवर्तनशील बना हुआ है। प्रदेश में दो दिन की ठंड के बाद फिर पारा उछला है। उत्तर में बर्फबारी और हवाओं का रुख भी उत्तरी बना हुआ है, पर फिर भी ठंड का असर उतना नजर नहीं आ रहा है। प्रदेश के मौसम को प्रभावित करने वाला कोई सिस्टम भी एक्टिव नहीं है। हालांकि मौसम विभाग का दृष्टिकोण बता रहा है कि दो दिन बाद न्यूनतम तापमान में फिर गिरावट हो सकती है।

सामान्य से अधिक है तापमान

भोपाल मौसम विज्ञान केंद्र के अधिकारियों ने कहा कि बंगाल की खाड़ी से नमी आने और छह दिसंबर के आसपास हिमालय क्षेत्र में पश्चिमी विक्षोभ सक्रिय होने से ठंड से कुछ दिन और राहत मिलेगी। भोपाल में रविवार को दिन का तापमान सामान्य से दो डिग्री अधिक 28.9 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया है, जबकि शहर में रात का तापमान 13.4 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया है जो सामान्य से एक डिग्री अधिक था। शहर में हवा की दिशा दक्षिण पूर्व थी और हवा की औसत गति 10 किमी प्रति घंटा थी।

Also Read – Ratlam: हाईवे पर दौड़ रहे ट्रक के टायर फटने से हुआ हादसा, 5 की मौत और 11 घायल, कलेक्टर ने पेश की संवेदनशीलता की मिसाल

मौसम विभाग के आंकड़े

मौसम विभाग के आंकड़ों की बात करें तो तापमान में उतार-चढ़ाव जारी है। अधिकतम तापमान एक बार फिर उछलकर 30 डिग्री के पार पहुंच गया है। वहीं रात का पारा भी 7 डिग्री के ऊपर आया है। प्रदेश में सबसे ठंडा पचमढ़ी रहा। पचमढ़ी में 7.2, नौगांव में 7.4, रायसेन-नरसिंहपुर में 8, ग्वालियर में 8.7, दतिया में 8.8, उमरिया में 9.2, खजुराहो में 9.8 डिग्री न्यूनतम तापमान दर्ज किया गया।

पचमढ़ी में सबसे कम रहा तापमान

वहीं, हिल स्टेशन पचमढ़ी में रात का तापमान 7.2 डिग्री सेल्सियस रेकॉर्ड किया गया। प्रदेश के मैदानी इलाकों में सबसे कम तापमान नौगांव में 7.4 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। भोपाल के लिए सोमवार को जारी पूर्वानुमान में मौसम विभाग के अधिकारियों ने कहा कि आसमान साफ रहेगा और शहर में शुष्क मौसम बना रहेगा। दिन और रात का तापमान क्रमशः 27 डिग्री सेल्सियस और 13 डिग्री सेल्सियस रहेगा, जबकि औसत हवा की गति 12 किमी प्रति घंटा होगी।