मध्य प्रदश के रतलाम में भीषण सड़क हादसे में 5 लोगों की दर्दनाक मौत हो गई. घटना में 11 लोग घायल हुए, जिनमें से दो की हालत चिंताजनक बताई जा रही है. पूरे हादसे को लेकर पुलिस ने ट्रक चालक के खिलाफ लापरवाही पूर्वक वाहन चलाने का अपराध दर्ज कर लिया है. रतलाम एसपी अभिषेक तिवारी ने बताया कि रतलाम के समीप हाईवे पर सातरुंडा इलाके में एक ट्रक अचानक बेकाबू हो गया. देखने वालो का कहना है कि तेज गति से हाईवे पर दौड़ रहे ट्रक का टायर फट गया, जिसके बाद वह अनियंत्रित होकर लोगों की भीड़ में घुस गया.

इलाके में आते है कई गांव

सातरुंडा इलाके के आसपास काफी संख्या में गांव लगते हैं. यहां हाईवे पर सभी यात्री बस रूकती है, इसलिए लोगों की काफी भीड़ बनी रहती है. कई लोग सड़क किनारे डिवाइडर पर खड़े थे. इस दौरान ट्रक डिवाइडर पर चढ़ गया. इस हादसे में मौके पर ही 5 लोगों की मौत हो गई जबकि 11 लोगों को चोट आई है. इसमें से दो की हालत नाजुक बताई जा रही है. घायलों को इलाज के लिए अलग-अलग अस्पतालों में दाखिल करवाया गया. इस घटना के बाद रतलाम कलेक्टर नरेंद्र सूर्यवंशी और एसपी ने मौके पर पहुंचकर घटना की जानकारी ली. एसपी अभिषेक तिवारी ने बताया कि ट्रक चालक के खिलाफ अपराध दर्ज कर लिया गया है.

धमाके की आवाज के साथ मची चीख पुकार

सातरुंडा के समीप रहने वाले प्रभु लाल ने बताया कि जब ट्रक सड़क किनारे डिवाइडर की ओर आकर लोगों की भीड़ में घुसी उसी समय जोरदार धमाके की आवाज हुई. लोग पूरा घटनाक्रम समझ पाते, इसके पहले चारों तरफ चीख पुकार मच गई. इसके बाद लोगों की भीड़ ने हताहत लोगों को संभाला और अस्पताल के लिए रवाना किया. लोगों ने इस घटना की सूचना पुलिस को दी, जिसके बाद राहत कार्य शुरू हुआ.

कलेक्टर की कार्यप्रणाली के लोग हुए कायल

हादसे के दौरान कलेक्टर नरेंद्र सूर्यवंशी और एसपी अभिषेक तिवारी भी मौके पर पहुंचे थे। इस दौरान लोग उस समय कलेक्टर की संवेदनशीलता के कायल हो गए जब उन्होंने दुर्घटना में अपने माता-पिता से बिछड़े एक बच्चे को गोद में उठाकर गले से लगा लिया। कलेक्टर ने बच्चे को गोद में लेकर अपने शासकीय वाहन से मातृ एवं शिशु चिकित्सालय रतलाम पहुंचाया। घटना पर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने दुःख जताया है।