विदेशी मीडिया में छाया ‘नमो-नमो’| ‘Namo-Namo’ Modi’s Historic Victory over Foreign Media…

0
39
global times

नई दिल्ली: आम चुनाव 2019 के नतीजों पर पूरी दुनिया की नजरे टिकी हुए थी। नतीजों में भाजपा को मिली प्रचंड बहुमत के बाद न केवल देश की मीडिया में मोदी के चर्चे हो रहे है बल्कि विदेशी मीडिया में भी मोदी छा गए है। विदेशी मीडिया ने भी मोदी की शानदार जीत को बड़े पैमाने पर कवर किया है।

वॉशिंगटन पोस्ट ने शीर्षक ‘राष्ट्रवाद की अपील के साथ भारत के मोदी ने जीता चुनाव’ के साथ लिखा, “भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और उनकी पार्टी ने दुनिया के सबसे बड़े चुनाव में भारी जीत हासिल की। मतदाताओं ने मोदी की शक्तिशाली और गर्वान्वित हिंदू की छवि पर मुहर लगा दी।

अखबार ने लिखा, मोदी की जीत उस धार्मिक राष्ट्रवाद की जीत है जिसमें भारत को धर्मनिरपेक्षता की राह से अलग हिंदू राष्ट्र के तौर पर देखा जाता है। भारत में 80 फीसदी आबादी हिंदू है लेकिन मुस्लिम, ईसाई, सिख और बौद्ध व अन्य धर्मों के लोग भी रहते हैं।”

बीबीसी वर्ल्ड ने लिखा, भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आम चुनाव में शानदार जीत दर्ज करते हुए पांच वर्षों का दूसरा कार्यकाल हासिल कर लिया है। इस बहुमत को पीएम मोदी की हिंदू राष्ट्रवादी राजनीति का बहुमत बताया जा रहा है।

गल्फ न्यूज ने “TSUNAMO 2.0 SWEEPS INDIA” शीर्षक से लिखा है, दशकों बाद बीजेपी की अभूतपूर्व जीत। इस अखबार के एक लेख में कहा गया है कि साल के शुरुआत में मोदी के सामने किसानों की समस्याएं, रोजगार संकट, राफेल जैसे मुद्दों का पहाड़ खड़ा था लेकिन पुलवामा और भारत की बालाकोट में स्ट्राइक के बाद मोदी व राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने बीजेपी की कहानी नए सिरे से लिख दी।

चीन के मुखपत्र ग्लोबल टाइम्स ने लिखा, भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने चुनाव में बड़ी जीत दर्ज करने के बाद समावेशी भारत का वादा किया। अब मोदी सरकार के लिए सबसे बड़ी चुनौतियां रोजगार, कृषि और बैकिंग सेक्टर होंगे।

न्यूज एजेंसी एपी ने लिखा कि 68 वर्षीय मोदी ने बड़ी सावधानी के साथ अपनी छवि एक ऐसे साधु के तौर पर गढ़ी जिसे राजनीति में भारत का वैश्विक दर्जा ऊंचा उठाने के लिए लाया गया है।. मोदी ने संसदीय चुनाव को सामाजिक और आर्थिक मुद्दों पर राजनीतिक लड़ाई को ‘पर्सनैलिटी कल्ट’ में बदल दिया।

पाकिस्तान के अखबार डॉन ने भी प्रमुखता से इस खबर छापा है। “प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरुवार को आम चुनाव में बहुमत हासिल करते हुए दूसरा कार्यकाल हासिल कर लिया है। चुनाव के दौरान राष्ट्रीय सुरक्षा के मुद्दे पर आक्रामक होते मोदी को ‘अजेय जादूगर’ के तौर पर देखा गया। बालाकोट एयरस्ट्राइक के कोरियोग्राफर के तौर पर खुद को स्थापित करते हुए मिस्टर मोदी ने बंटे हुए विपक्ष को कुचल दिया।”

मोदी की जीत पर सकारात्मक टिप्पणी नहीं आई है। गार्डियन ने लिखा, भारत की आत्मा के लिए मोदी की जीत बुरी है। अखबार ने लिखा कि दुनिया को एक और लोकप्रिय राष्ट्रवादी नेता की जरूरत नहीं है जो अल्पसंख्यकों को दूसरे दर्जे का नागरिक मानता हो।

न्यू यॉर्क टाइम्स ने शीर्षक “भारत के चौकीदार नरेंद्र मोदी की चुनाव में ऐतिहासिक जीत” के साथ लिखा, “मोदी ने खुद को भारत का चौकीदार कहा जबकि अल्पसंख्कों ने में खुद को असुरक्षित महसूस किया। अरबपतियों को फायदा पहुंचाने के साथ-साथ उन्होंने अपने कमजोर पारिवारिक पृष्ठभूमि का बखान किया। इन सभी विरोधाभास के बावजूद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आधुनिक भारत के इतिहास में सबसे मजबूत हिंदू राष्ट्रवाद के सहारे पार्टी को शानदार जीत दिलाई।”

अलजजीरा ने अपनी कवरेज में लिखा, मोदी पहले गैर-कांग्रेसी प्रधानमंत्री हैं जो पांच वर्षों के कार्यकाल के बाद दोबारा सत्ता में लौटे हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here