झारखंड के गुमला जिले से एक बहुत ही हैरान कर देने वाली खबर सामने आई हैं। जहां असल में आठवीं कक्षा की छात्रा जिसकी आयु मात्र 16 वर्ष है, उसने चिकित्सालय में एक बच्ची को जन्म दिया। छात्रा कस्तूरबा गांधी शिक्षालय में अध्ययनरत थी। इस चौंका देने वाली घटना के बाद महिला थाने में एफआईआर दर्ज कराई गई। इस घटना को लेकर जो बात सामने आई है वो इंसानियत को शर्मसार कर देने वाली है। असल में कहा जा रहा है कि 16 वर्ष की बच्ची का उसके चाचा के साथ अफेयर था। इस घटना को लेकर गांव में मीटिंग भी हुई थी। इस जांच पड़ताल के बीच पता चला कि वो छात्रा गर्भवती हैं।

बीती रात्रि जब छात्रा ने पेट दर्द की समस्या बताई तब उसके बाद युवती को सदर अस्पताल ले एडमिट करवाया गया। यहां टेस्ट के बीच ज्ञात हुआ कि वो गर्भवती हैं। इसके बाद छात्रा को लेबर रूम में ले जाया गया, जहां उसकी सामान्य डिलीवरी हुई।

Also Read – धीरेन्द्र शास्त्री के बाद अब पंडित प्रदीप मिश्रा का कथा से पूर्व ही शुरू हुआ विरोध, सामने आई ये बड़ी वजह

ऐसे छिपाया पेट

इस पूरी घटना में डीओ सुनील शेखर व वार्डन शांति देवी ने सूचना दी और साथ ही बताया – अगस्त के माह में छात्रा का दाखिला हुआ था। उस समय वो हेल्थी लग रही थी और किसी को इस बारे में नहीं ज्ञात था। वो अक्सर शॉल ओढ़े दिखती थी। इस कारण से भी कभी किसी को कुछ पता नहीं चल पाया कि वो गर्भवती है.

चाचा के साथ चल रहा था अफेयर

खबर तो ये भी आ रही हैं कि छात्रा का गांव में रिलेटिव मैरिड चाचा के साथ प्रेम प्रसंग चल रहा था। इसी घटना को लेकर गांव में 16 जुलाई 2022 के दिन मीटिंग हुई थी। इस बैठक में डिसाइड हुआ था कि दोनों एक-दूजे संग दूरी बनाकर रहेंगे। यदि ये दोनों दूसरी बार एक दूजे संग पकड़े गए तो 1 लाख रूपए का दंड भी देना होगा। इसके बाद छात्रा का कस्तूरबा स्कूल में 2 अगस्त को दाखिला हुआ।

अब इस पुरे घटनाक्रम की जांच पड़ताल के लिए चार सदस्यीय टीम का आयोजन किया गया है। डीईओ सुनील शेखर, अतिरिक्त जिला पदाधिकारी पीयूष कुमार, प्रखंड कार्यक्रम पदाधिकारी सुमित्रा तिर्की और लेखा पदाधिकारी एसएस माधुरी मिंझ का गठन किया गया। डीईओ ने कहा है कि इस पुरे मामले में जांच पड़ताल के बाद मुजरिम के विरुद्ध सख्त से सख्त एक्शन लिया जाएगा।