लखिमपुर खीरी (Lakhimpur Kheri) में कल हुए दो दलित बहनों के हत्याकाँड की गुत्थी 24 घंटों के भीतर ही पुलिस के द्वारा सुलझा ली गई है। दरअसल यूपी के लखीमपुर खीरी जिले में कल दो दलित बहनों के शव एक पेड़ पर टंगे होने के सुचना पुलिस को मिली थी। मामला प्रथमद्रष्टया आत्महत्या का प्रतीत हो रहा था, परन्तु जैसे-जैसे जाँच आगे बड़ी मामला हत्या में तब्दील होता नजर आया। घटना के 24 घंटों के भीतर ही यूपी पुलिस के द्वारा इस दोहरे हत्याकांड का पर्दाफाश करने का दावा किया जा रहा है।

Also Read-Share Market Tips : कल्याण ज्वेलर्स का शेयर करेगा सोने पे सुहागा, निवेश से होगी चांदी

ये हुआ खुलासा

लखिमपुर खीरी में कल हुए दो दलित बहनों के हत्याकाँड के मामले में जांच के दौरान पुलिस को जानकारी मिली की दोनों दलित बहने दो युवकों के साथ मोटर सायकिल से अपनी मर्जी से साथ जाती दिखी थीं, आगे तफ्तीश करने पर पुलिस को मामले की तह का पता चला। दरअसल दोनों बहनों के पड़ोस में रहने वाले शख्स छोटू ने दोनों बहनों की दोस्ती सोहेल और जुनैद नाम के युवकों से कराई थी। ये दोनों युवक ही कल दोनों बहिनों को मोटरसायकल पर बिठा कर गांव के बाहर खेतों में लेकर गए थे, जहां इन दोनों ने पहले इन दोनों बहनों के साथ जबरजस्ती रेप किया, फिर अपने साथी हफीजुल के साथ मिलकर दोनों की गला गोंट कर हत्या कर दी। उसके बाद दोनों आरोपियों ने अपने अन्य साथी करीमुद्दीन और आरिफ को बुलाया, जिन्होंने दोनों बहनों की लाशों को पेड़ से लटका दिया।

Also Read-Indore को मिला राष्ट्रिय पर्यटन पुरस्कार, 27 सितंबर को दिया जाएगा महापौर और निगम आयुक्त को

आरोपियों ने कुबूला जुर्म

उत्तर प्रदेश पुलिस के अनुसार दोनों मुख्य आरोपियों सोहेल और जुनेद ने दोनों बहनों के साथ रेप करने के साथ ही दोस्तों के साथ मिलकर दोनों की हत्या करना कुबूल कर लिया है। उत्तर प्रदेश पुलिस इन दोनों आरोपियों सहित कुल 6 लोगों को आरोपी बनाया है, जिनमें मृतक बहनों का पड़ोसी छोटू गौतम भी शामिल है ।