क्रिकेट के हिस्ट्री की एक ऐसी घटना जिस पर हर कोई बात करने से झिझकता है, घबराता हैं, स्टोरी है ऐसे दो बल्लेबाजों की जो खेलते तो एक ही टीम से थे, लेकिन दोनो के मध्य एक ऐसी घटना घटी कीअब दोनो एक दूसरे को देखना भी पसंद नही करते हैं. यहां हम बात कर रहे हैं दिनेश कार्तिक और मुरली विजय की. तो चलिए बात करते हैं भारतीय क्रिकेट के इतिहास की उस कहानी की, जिसको पढ़कर आपको प्यार और दोस्ती पर से विश्वास उठ जाएगा.

क्या है मुरली विजय और दिनेश कार्तिक की कहानी

वर्ष था 2007, भारत के स्टार विकेटकीपर बल्लेबाज दिनेश कार्तिक ने अपने बचपन की दोस्त निकिता से शादी की थी. लेकिन दिनेश और निकिता का वैवाहिक जीवन ज्यादा दिन तक नही चल सका और दोनो के मध्य वर्ष 2012 में तलाक हो गया. तलाक का कारण था दिनेश की पत्नी निकिता का अफेयर उनके पति के साथी क्रिकेटर मुरली विजय के साथ था.

उस समय 2012 में दिनेश कार्तिक कर्नाटक के विरुद्ध तमिलनाडु में विजय हजारे ट्रॉफी का एक रोमांचक मैच खेल रहे थे. इस मैच के दौरान दिनेश कार्तिक को अपनी पत्नी निकिता और दोस्त मुरली विजय के अफेयर के बारे में पता चला, जिसके बाद दोनो के बीच तलाक हुआ और दिनेश कार्तिक हर तरीके से टूट गए थे.

Also Read – राम-सीता से रावण तक, असल जिंदगी में कैसे है, रामायण के स्टार कास्ट के लाइफ पार्टनर्स, जानने के लिए पढ़े पूरी खबर

दिनेश कार्तिक को तीन साल बाद मिला सच्चा प्यार

निकिता और मुरली विजय की शादी उसी साल हुई और, दोनों अगले ही वर्ष पेरेंट्स बने, दरअसल दिनेश कार्तिक से तलाक के पहले ही निकिता मुरली विजय के बच्चे की मां बनने वालीं थीं. लेकिन दूसरी ओर दिनेश कार्तिक तीन वर्ष टूटे दिल के साथ अपना जीवन बिताते रहे.

दिनेश कार्तिक को इस घटना के तीन वर्ष बाद 2015 में सच्चा प्यार मिला. दिनेश कार्तिक भारतीय स्क्वैश प्लेयर दीपिका पल्लीकल से मिले. हालांकि कहा जाता है कि दीपिका क्रिकेटरों से नफरत करती थीं और उनका मानना ​​था कि उन्हें जिस तरह का प्रचार और शोहरत मिलती है, जिससे बाकि खेल को प्रोत्साहन नही मिलता है. लेकिन जब दीपिका, दिनेश कार्तिक से मिली तो वह उनके सिम्पल लाइफ से प्रभावित हो गईं और दोनो ने साल 2015 में शादी कर ली.