इंदौर। युवा शक्ति के लिए मशहूर भारत अपना 74वाँ गणतंत्र दिवस मना रहा है और भारत के युवा 30 जनवरी से मध्यप्रदेश के 8 शहर में अपनी प्रतिभा दिखाने के लिए कमर कस चुके हैं। मध्य प्रदेश के सात शहरों में होने वाला खेलों इंडिया यूथ गेम्स कई मायनों में खास होगा। इस आयोजन में पहली बार 27 खेल शामिल किए गए हैं और खास बात यह है कि इनमें से कई खेल पहली बार खेलो इंडिया यूथ गेम्स की शोभा बढ़ाएंगे।

इस साल वाटर स्पोर्ट्स खेलो इंडिया यूथ गेम्स में डेब्यू करेगा। मध्य प्रदेश के दो आयोजन स्थलों-राजधानी भोपाल और महेश्वर (खरगोन) इनकी मेजबानी करेंगे। भोपाल स्थित एमपी वाटर स्पोर्ट्स अकादमी में कयाकिंग, कैनोइंग और रोइंग स्पर्धाएँ होंगी, जबकि महेश्वर में वाटर स्लालोम का आयोजन होगा। खेल एवं युवा कल्याण मंत्री यशोधरा राजे सिंधिया ने कहा कि हम सभी जानते हैं कि भोपाल को झीलों की नगरी के रूप में जाना जाता है।

Also Read : JNU में BBC डॉक्यूमेंट्री को लेकर बवाल, वामपंथी छात्रों ने पत्रकार पर किया हमला

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के नेतृत्व में मध्यप्रदेश भारत के स्पोर्ट्स हब के रूप में उभर रहा है। हमारे पास बेहतरीन इंफ्रा-स्ट्रक्चर है। यहाँ बेहतरीन कयाकिंग और कैनोइंग हो सकती है। हमारे पास सर्वोत्तम प्रशिक्षण सुविधाएँ, अंतर्राष्ट्रीय कोच हैं और सबसे बढ़ कर हम खेलो इंडिया की मेजबानी कर रहे हैं। इसलिए इसका हिस्सा बनना हमारे लिए गर्व की बात है। मंत्री सिंधिया ने कहा कि प्रदेश में वाटर स्पोर्ट्स को लेकर सालों से काफी काम हुआ है और इसी कारण इन इवेंट्स को लेकर उनके साथ राज्य भर के खिलाड़ियों में अच्छा प्रदर्शन करने का यकीन और उत्साह है। उन्होंने कहा हमारे वाटर स्पोर्ट्स अकादमी के खिलाड़ियों ने अंतरराष्ट्रीय प्रतियोगिताओं में नाम कमाया है। हम भारत में जूनियर्स में कयाकिंग, कैनोइंग और रोइंग के लिए अग्रणी टीम हैं। खेल मंत्री सिंधिया ने कहा कि मध्यप्रदेश की मेज़बानी में होने वाले इंडिया यूथ गेम्स-2022 हमारे लिए गर्व की बात है।