विवादित बयान पर कंगना का पलटवार, कहा- लौटा दूंगी पद्म सम्मान

बॉलीवुड एक्ट्रेस और पंगा क्वीन कंगना रनौत आए दिन अपने विवादित बयानों के लिए चर्चा में रहती है। इन दिनों वह अपने आजादी वाले बयान की वजह से विवादों में है।

बॉलीवुड एक्ट्रेस और पंगा क्वीन कंगना रनौत आए दिन अपने विवादित बयानों (Kangana Ranaut controversial statements) के लिए चर्चा में रहती है। इन दिनों वह अपने आजादी वाले बयान की वजह से विवादों में है। दरअसल, चौतरफा हमलों के बाद भी अभिनेत्री अपने बयान पर टिकी हुई है। एक्ट्रेस कंगना ने आज एक पोस्ट शेयर कर लिखा है कि यदि कोई साबित कर दे कि मैंने अपने बयान में स्वतंत्रता सैनानियों का अपमान किया है तो मैं पद्म सम्मान (Padma Shri Award) लौटा दूंगी।

आगे उन्होंने लिखा है कि उसी साक्षात्कार में मैने साफ-साफ कहा है कि 1857 में स्वतंत्रता के लिए पहली सामूहिक लड़ाई हुई। सुभाष चंद्र बोस, रानी लक्ष्मीबाई और वीर सावरकर जी जैसे महान लोगों ने बलिदान दिया। 1857 मुझे पता है लेकिन 1947 में कौन सा युद्ध हुआ था, मुझे नहीं पता, अगर कोई मेरी जानकारी में ला सकता है तो मैं अपना पद्मश्री वापस कर दूंगी और माफी भी मांगूंगी … कृपया इसमें मेरी मदद करें।

ये भी पढ़ें – Ujjain : अग्रवाल ग्रुप की ओर से होगा महाकालेश्‍वर मंदिर में अन्‍नक्षेत्र भवन का निर्माण

जानकारी के मुताबिक, कंगना रनौत का एक वीडियो वायरल हो रहा है जिसमें वह कहती नजर आ रही है कि 1947 में इस देश को आजादी नहीं बल्कि भीख मिली थी। असली आजादी 2014 में मिली है। इसका मतलब ये है कि केंद्र में मोदी सरकार आने के बाद ही इस देश को आजादी को मिली है।

एक्ट्रेस के इस बयान पर बवाल मच गया है। उनके इस बयान पर इतना बवाल मच गया कि सभी ने उनका पद्म सम्मान वापस लिया जाने की मांग की। साथ ही वरुण गांधी ने भी इस पर हमला किया। बता दे, आम आदमी पार्टी ने बीते दिन को मुंबई पुलिस को एक आवेदन सौंपकर फिल्म एक्ट्रेस कंगना के खिलाफ उनकी कथित टिप्पणी के लिए मामला दर्ज करने की मांग की।