Breaking News

शाकाहारी लोगोंके लिए आयरन के बेहतरीन स्त्रोत है ये खाद्यपदार्थ

Posted on: 12 Jun 2018 08:13 by shilpa
शाकाहारी लोगोंके लिए आयरन के बेहतरीन स्त्रोत है ये खाद्यपदार्थ

 

नई दिल्ली :आयरन की कमी से कोई भी बीमारी जल्दी शरीर में घर कर जाती है। बच्चे इससे बहुत जल्दी प्रभावित होते है और इसकी कमी से एकाग्र नही हो पाते। आयरन की कमी से गर्भवती महिला और उसके शिशु पर भी बुरा असर पड़ता है। आयरन हमारे शरीर के लिए आवश्यक है क्योंकि रक्त में हिमोग्लोबिन का सबसे जरूरी घटक है और आप जानते हि है हिमोग्लोबिन हमारे शरीर के सभी अंगो तक ओक्सीजन जाने में मदद करता है। आयरन हमारे शरीर के लिए इसलिए भी जरूरी है क्योंकि ये शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता यानि इम्यूनिटी बढ़ाता है।

कितनी होनी चाहिए आयरन की मात्रा

हमारे शरीर को सिर्फ 1 से 2 ग्राम आयरन की जरूरत होती है मगर हम भोजन में जो आयरन लेते है उसका 10 फीसदी आंत अवशोषित कर लेती है। इसीलिए हमें रोज अपने आहार में कम-से-कम 10 से 20 मिलीग्राम आयरन का सेवन करना चाहिए। गर्भवती महिला को सबसे ज्यादा याने रोज 27 मिलीग्राम आयरन की ज़रुरत होती है। 18 से 35 वर्ष के महिलाओं और पुरुषों को 18 मिलीग्राम आयरन की जरूरत होती है। 35 से 50 साल के लोगों को 10 मिलीग्राम आयरन की जरूरत होती है।
वही 50 वर्ष से ऊपर की उम्र के पुरुषों और महिलाओं को 8 मिलीग्राम आयरन लेने की सलाह दी जाती है।

आयरन के शाकाहारी स्रोत

पालक:
हिमोग्लोबिनकी कमी होने पर पलक खाने से शरीर में इसकी कमी पूरी होती है। क्योंकि पालक में आयरन काफी मात्रा में होता है। इसके अलावा पालक में कैल्शियम, सोडियम, क्लोरीन, फास्फोरस, खनिज लवण और प्रोटीन जैसे तत्‍व आदि मुख्य हैं।

मुनक्का :
यह स्‍वाद में मीठा और हल्‍का, सुपाच्‍य और नर्म होता है। मुनक्का शरीर की कमजोरी और एनीमिया को ठीक करता है। मुनक्के में आयरन और बी कॉम्पलेक्स यानि विटामिन बी भरपूर मात्रा में होता है। मुनक्के में मौजूद आयरन रक्त में हिमोग्लोबिन का स्तर बढाता है। लेकिन इसकी तासीर गर्म होती है इसलिए इसे गरमीयों में कम खाना चाहिए।

चने:
एनीमिक लोगोंको रोज सुबह के नाश्ते में भीगे हुए चने खाने चाहिए। रात को चने गला के सुबह नमक, प्याज, टमाटर और चाट मसाला मिला के खा सकते है। हिमोग्लोबीन बढ़ाने के लिए आप भीगे हुए चने में एक चम्मच शहद मिलाकर भी खाएंगे तो फायदा करेगा।

Image result for काजू

via

काजू:
जिन लोगों के शरीर में आयरन की कमी होती है डॉक्‍टर उन्‍हें काजू लेने की सलाह देते हैं। काजू शरीर में खास पोषक तत्वों की कमी को दूर करता है। अगर कोई 10 ग्राम काजू खाता है तो उसको 0.3 मिलीग्राम आयरन प्राप्‍त होता है।

ब्रोकली:
विटामिन सी शरीर में इम्यूनिटी सिस्टम को मजबूत करने और इन्फेक्शन से लड़ने का काम करता है। विटामिन सी शरीर में इम्यूनिटी सिस्टम को मजबूत करने और इन्फेक्शन से लड़ने का काम करता है। इसमें कुछ ऐसे तत्व भी मौजूद होते हैं जो शरीर से टॉक्सिन्स निकाल बाहर करते हैं और सर्दी-जुकाम से प्रतिरक्षा प्रदान करते हैं।

तिल

तिल में कई प्रकार के प्रोटीन, कैल्शियम, बी काम्‍प्‍लेक्‍स और कार्बोहाइट्रेड आदि तत्‍व पाये जाते हैं।  आप अगर आयरन और कैल्शियम की कमी पूरी करना कहते है तो आपको रोज पचास ग्राम तिल खाने चाहिए। आप तिल और गुड के लड्डू भी खा सकते है।

मूंगफली
मूंगफली आयरन और कैल्शियम का भंडार होता है। इसके अलावा इसमें फाइबर भी होता है। इसमें पोटेशियम, मैग्नीशियम और विटामिन बी भी शामिल होता हैं।मूंगफली एक ऐसा नट्स है जो सस्ता और पौष्टिकता से भरपूर होता है।`

गुड़ का सेवन
एनिमिया से ग्रस्त लोगों को रोज 100 ग्राम गुड़ जरूर खाना चाहिए। एक चम्मच गुड़ में 3.2 मि.ग्रा. आयरन होता है।गुड़ में सुक्रोज 59.7 प्रतिशत, ग्लूकोज 21.8 प्रतिशत, खनिज तरल 26 प्रतिशत तथा जल अंश 8.86 प्रतिशत मौजूद होते हैं। इसे खाने से ब्‍लड में शुगर की समस्‍या नहीं होगी।खाने के बाद थोड़ा सा गुड़ खाने से भी एनिमिया दूर होता है।

रागी
यह आयरन का बेहेतरी स्त्रोत है। रागी खाने से खून की कमी नही होती और हीमोग्लोबिन का स्तर भी बढाया जा सकता है। दूध पिलाने वाली माताओं में दूध की कमी के लिये यह टॉनिक का कार्य करता है।

मोटे अनाज

अनाज का सेवन करने से भी आयरन की कमी दूर होती है क्‍योंकि इसमें आयरन अधिक मात्रा में होता है। हीमोग्लोबिन का स्तर बढ़ाने के लिए भोजन में गेंहू और सूजी की बनी चीजे बहुत फायदेमंद है।

Latest News

Copyrights © Ghamasan.com