Indore : इंदौर में तीन दिवसीय शिविर प्रारम्भ, शरीर को स्वस्थ्य रखने के बताए गए प्रयोग

दो घण्टे के इस सत्र में कई भक्ति गीतों पर भी पूरी ऊर्जा से साधक झूमे ,सन टू ह्यूमन इंदौर से परम मित्र मां गार्गी  ने शिविर में प्रायोगो एवम सूत्रो से हजारों साधकों को तृप्त किया।

मां अहिल्या की सुन्दर नगरी इंदौर में नए दृष्टिकोण वाला तीन दिवसीय शिविर प्रारम्भ . छोटे छोटे सूत्रों के द्वारा शरीर को स्वस्थ्य रखने के बताए गए प्रयोग . ऊर्जा से भरने वाले व्यायाम से आनंदित हुए हजारों साधक . सन टू ह्यूमन फाउंडेशन एवम माहेश्वरी समाज इंदौर , अल्ट्रटेक सीमेंट परिवार के तत्वावधान में आयोजित नए दृष्टिकोण वाले निशुल्क शिविर के पहले दिन ब्रह्म मुहूर्त में स्नान कर आए साधकों ने सूर्य देव के सन्निध में ताजगी और स्फूर्ति का अहसास किया। दो घण्टे के इस सत्र में कई भक्ति गीतों पर भी पूरी ऊर्जा से साधक झूमे ,सन टू ह्यूमन इंदौर से परम मित्र मां गार्गी  ने शिविर में प्रायोगो एवम सूत्रो से हजारों साधकों को तृप्त किया। उन्होंने मनुष्य की चेतना को विकसित करने के आधारभूत तत्वों की जानकारी दी। एवम 4000 साधकों को शक्तिशाली बनाने के प्रयोग, प्राचीन ज्ञान एवम आधुनिक विज्ञान से जोड़ कर बताया गया। उन्होंने कहा कि हम भोजन को बहुत छोटी घटना मान लेते है, और यही से भूल हो जाती है और शरीर बीमारियों से जकड़ जाता है। थोड़े से व्ययाम , नाश्ता औऱ भोजन में बदलाव कर रोग मुक्त हुआ जा सकता है।
शिवर आयोजक माहेश्वरी समाज से मित्र हेमंत गट्टानी ने इस शिविर में भाग लेने वाले साधकों का आभार माना ।

Also Read – Indore : पितृ पर्वत पर शिवशक्ति महायज्ञ में 11 लाख आहुतियां पूर्ण, आज होगा भव्य सुंदरकांड का पाठ

शिवर की शुरूवात चंदन तिलक स्वागत से हुई । अंत में 18 तरह का एल्कलाइन नाश्ता दिया गया । सन टू ह्यूमन के परम मित्र जनक आनद , मां मैत्रीयी, रवि निर्मल, सम्राट , शुन्य भैया एवम मित्रो ने बहुत सुन्दर भाव से सभी साधकों का स्वागत किया । खालसा कॉलेज ग्राउंड में हो रहे 3 दिन के शिवर 3 जून से 5 जून, सुबह 6 बजे 8 बजे तक चलेगा। इसके बाद साधकों के आग्रह पर मन एवम चेतना के विकास पर प्रश्न उत्तर के सेशन लेने के लिए पूज्य परम आलय जी स्वयं 6 जून से 8 जून तक सुबह 6 बजे से 8 बजे तक सेशन सराफा विद्या निकेतन, एम ओ, इन्दौर में लेगे ,जो लिमिटेड प्यासे साधकों के लिए एंट्री पास के द्वारा है, एंट्री पास 5 जून तक शिवर में प्राप्त कर सकते हैं।

Also Read – योग है जीवन जीने का ज्ञान, इसके आगे नतमस्तक है विज्ञान