इंदौर(Indore) : माउंट लिट्रा जी स्कूल इंदौर ने क्लस्टर 3 के लिए सहोदय समागम 2022 के तत्वावधान में बेस्ट आउट ऑफ वेस्ट प्रतियोगिता की मेजबानी की। क्लस्टर 3के 22 स्कूलों के प्रदर्शन के लिए प्रतियोगिता में भाग लिया। इसमें स्कूली बच्चों ने अपने हुनर के जरिए टूटे शीशे, गत्ते, समाचार पत्र, टायर आदि वेस्ट मैटेरियल से कई तरह के सजावटी उत्पादों को बनाया। बच्चों ने रैंप वॅाक के जरिए संदेश दिया कि वेस्ट मैटेरियल का सही इस्तेमाल करके न सिर्फ खूबसूरत उत्पाद बना सकते हैं।

इस तरह के उत्पादों को इधर—उधर ना फेंक कर अपने आसपास के वातावरण को भी प्रदूषित होने से बचा सकते हैं। इसमें विनय जोशी और मनीषा गंगवाल ने बच्यों को वेस्ट से बेस्ट बनने उत्पादों से पर्यावरण का संरक्षण किस तरह होता इस बारे में जानकारी दी। पुरस्कार वितरण समारोह में इंडेक्स समूह के डायरेक्टर आर एस राणावत,एडिशनल डायरेक्टर, आर सी यादव,माउंट लिट्रा जी स्कूल के सीईओ रूपेश वर्मा सीईओ और प्राचार्य श्याम अग्रवाल विजेताओं को पुरस्कार दिए।

Read More : Goa : एयरपोर्ट पर रही भारत-पाक मैच की धूम, टीम इंडिया के जीतने तक कोई भी पैसेंजर फ्लाइट में बोर्डिंग करने को नहीं हुआ तैयार

 

डायरेक्टर आर एस राणावत ने कहा कि वेस्ट से बेस्ट चीजों बनाकर हम चीजों का सही उपयोग तो करते है लेकिन पर्यावरण संरक्षण में भी मदद करते है। बच्चों ने अपनी कलाकारी के जरिए कई शानदार कलाकृतियों का निर्माण किया है जो सभी के लिए एक प्रेरणा है। इस प्रतियोगिता में न्यू दिगंबर पब्लिक स्कूल, रविशंकर विद्या मंदिर, क्वींस कॉलेज और सन्मति हायर सेकेंडरी स्कूल ने सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन किया।

Read More : Nude Photoshoot Case: मुंबई पुलिस ने की रणवीर सिंह से दो घंटे तक पूछताछ, इन सवालों का दिया एक्टर ने जवाब

वेस्ट से बेस्ट प्रतियोगिता में बच्चों ने जहां खूबसूरत लैम्प,झरना,गणेशजी की मूर्तियां और गुलदस्तों का निर्माण किया।एक ओर जहां इस प्रतियोगिता में बच्चों ने कई तरह के खास कलाकृतियों का निर्माण किया। शिक्षकों ने पुराने समाचार पत्रों की पोशाक सामग्री तैयार करने में अपने कलात्मक कौशल का प्रदर्शन किया। मॉडल्स ने उन ड्रेसेस और एक्सेसरीज के साथ रैंप वॉक भी किया।।