Indore: सूरज की किरणों से रोशन हो रहे परिसर, रूफटॉप सोलर नेट मीटर कनेक्शनों की संख्या में बढ़ोत्तरी

मध्यप्रदेश पश्चिम क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी इंदौर के प्रबंध निदेशक अमित तोमर ने बताया कि ग्रीन एनर्जी की ओर सतत कार्य किया जा रहा है। रूफटॉप सोलर नेट मीटर कनेक्शनों की संख्या में बढ़ोत्तरी हो रही है जिससे बिजली बिल भी कम आ रहे है।

इंदौर। मेरी छत, मेरी बिजली की भावना से मालवा और निमाड़ के लोग सतत ही सौर ऊर्जा की ओर आकर्षित हो रहे हैं। घर, दुकानों, माल्स, औदयोगिक परिसर, कार्यालयों की छतों, स्कूल, कॉलेजों आदि में सूरज की किरणों से बिजली तैयार की जा रही है। रूफ टॉप सोलर नेट मीटर योजना के तहत प्रतिमाह उपभोक्ता आकर्षित हो रहे है। इनके बिजली बिल में कमी आ रही है। साथ ही ग्रीन एनर्जी को भी बढ़ावा मिल रहा है।

मध्यप्रदेश पश्चिम क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी इंदौर के प्रबंध निदेशक अमित तोमर ने बताया कि ग्रीन एनर्जी की ओर सतत कार्य किया जा रहा है। रूफटॉप सोलर नेट मीटर के लिए कंपनी क्षेत्र में 55 कार्यपालन यंत्री उपभोक्ताओं की मदद कर प्रकरणों की जल्दी मंजूरी दे रहे है, ताकि छतों, परिसरों का सूरज की किरणों से ऊर्जा की पैदावार में शीघ्रता से उपयोग हो। श्री तोमर ने बताया कि वर्तमान में कंपनी क्षेत्र में 5900 स्थानों, परिसरों, छतों का उपयोग सूरज की किरणों से पैनल्स के माध्यम से बिजली बनाने में हो रहा है।

इंदौर शहर सीमा में 3710 स्थानों पर सूरज की किरणों से बिजली तैयार की जा रही है। उन्होंने बताया कि कंपनी स्तर पर इंदौर के बाद उज्जैन जिले में सबसे ज्यादा 750, धार जिले में 330, रतलाम जिले में 250, खऱगोन जिले में 200, नीमच जिले में 150 स्थानों, परिसरों, छतों से नेट मीटर के माध्यम से बिजली तैयार की जा रही है। परिसरों से तैयार जितनी बिजली मीटर में दर्ज होती है, वह उस उपभोक्ता की वास्तविक खतत में से कम हो जाती है। इस तरह उपभोक्ता को काफी कम राशि की बिल दिया जाता है।

Also Read: कुछ सालों के बाद हो सकते है Alien से रूबरू, जानिए कैसे होगा यह संभव

इंदौर में सबसे ज्यादा रूचि

मप्र के सभी बड़े शहरों में छतों से बिजली को लेकर इंदौर में सबसे ज्यादा रूचि है। यहां वर्ष 2017 में 500, 2018 में 1000, 2019 में 1300, 2020 में 2000, 2021 में 2200 उपभोक्तों ने ग्रीन एनर्जी के लिए अपने परिसर उपयोग में लाए थे। इस वर्ष 10 सितंबर तक यह संख्या 3710 पार कर गई है।