17 सितंबर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के जन्म दिन पर तेरापंथ जैन युवा परिषद और इंडियन रेडक्रॉस सोसायटी द्वारा स्थानीय एस जी एस आई टी एस इंजीनियरिंग कॉलेज में रक्तदान शिविर आयोजित किया गया। जिसे आम जन का बडी मात्रा में प्रतिसाद मिला। अरे ओ भिया फेम यातायात प्रबंधन मित्र, स्वतंत्र लेखक और समाजसेवी राजकुमार जैन जब वहां रक्तदान करने पहुंचे तो वहां उपस्थित आयोजक एवम कार्यकर्ता उत्साह से भर उठे। जैन ने रक्तदान करते हुए बताया कि वो कई वर्षों से लगातार रक्त दान कर रहे हैं।

Read More : चीतों की चिंता – गौमाता बेहाल

उनका मानना है कि रक्तदान को लेकर समाज में अभी भी कुछ भ्रांतियां है जिन्हें दूर करना आवश्यक है। प्रत्येक स्वस्थ व्यक्ति को एक वर्ष में एक बार रक्तदान जरूर करना चाहिए। ऐसा करना आपके अपने स्वास्थ्य के लिए अनुकूल है। रक्तदान करने के बाद शरीर स्वयं नया रक्त बना लेता है। ने रक्त का बनना स्वास्थ्य वर्धक होता है। रक्तदान के कई फायदे हैं। विशेषज्ञों के अनुसार नियमित रक्त दान करते रहने से रक्त के मुख्य घटक जैसे आरबीसी, डब्लूबीसी, प्लेटलेट्स आदि का तेजी से नवनिर्माण होने लगया है जो बहुत लाभदायक होया है।

Read More : Social Media : इस नए अंदाज में पुलिसकर्मी कर रहा ट्रैफिक को कंट्रोल, वीडियो तेजी से हो रहा है वायरल

रक्तदान करने वालों को हृदयाघात का खतरा कम हो जाता है, कैंसर होने का जोखिम कम होता है, लीवर से जुड़ी समस्याओं से भी राहत मिलती है, रक्तदान करने से वजन भी नियंत्रण में रहता है। किसी गंभीर बीमारी या दुर्घटना के समय हमारे शरीर के समस्त अंगों के सुचारू रूप से कार्य करते रहने के लिए खून बहुत जरूरी होता है। यही कारण है कि रक्तदान को महादान बताया जाता है। आपके द्वारा आज दान किया हुआ रक्त भविष्य में किसी व्यक्ति की जान बचा सकता है। और दुनिया से समस्त धर्म यह मानते हैं कि कीसीकी जान बचाना सबसे बड़ा पुण्य का कार्य है। अतः हम सभी को नियमित रूप से रक्तदान करते रहना चाहिए।