इंदौर नगर निगम का मिस मैनेजमेंट, तेज बारिश के चलते कई निचली बस्ती में घुसा पानी

मध्य प्रदेश में मानसून के मेहरबान होने के चलते बारिश का दौर अब लगातार जारी है। मौसम विभाग ने प्रदेश के 8 जिलों में भारी बारिश का अलर्ट भी जारी किया है।

मध्य प्रदेश में मानसून के मेहरबान होने के चलते बारिश का दौर अब लगातार जारी है। मौसम विभाग ने प्रदेश के 8 जिलों में भारी बारिश का अलर्ट भी जारी किया है। इंदौर में भारी बारिश होने से जलस्तर बढ़ गया है, तो वही निचली बस्तियों में पानी भर जाने से आम जनजीवन भी प्रभावित हो रहा है। बारिश के चलते सड़कों ने नदी और तालाब का रूप ले लिया है। साथ ही तेज बारिश और हवाओं के चलते कई इलाकों से पेड़ भी गिर गए है। पेड़ गिरने के चलते कई गाड़ियां क्षतिग्रस्त हुई।

 

वहीं बेसमेंट में पानी भर जाने के चलते कई कारें और टू व्हीलर को भारी नुकसान पहुंचा है। साथ ही कई निचली बस्तियों में पानी भर जाने के कारण लोगों ने अपनी जान बचाई और काफी परेशानी का सामना करना पड़ा। घरों में पानी भर जाने के चलते गृहस्ती का सामान और राशन का सामान पूरा ख़राब हो गया है। वहीं सत्य साईं स्कूल के पास बीआरटीएस पर भी पानी भर गया। जिससे परिवहन निकालने में काफी परेशानी हो रही है।

Also Read – शेयर बाजार : इन शेयरों में निवेश से मिल सकता है लगभग दोगुना रिटर्न, मंदी में भी लाभ के हैं आसार

जानकारी के लिए बता दें इंदौर में सुबह तक 5.4 मिलीमीटर बारिश हो चुकी है। मौसम विभाग ने हल्की बारिश के साथ ही दिनांक 13 से 17 के बीच इंदौर में भारी बारिश की संभावना भी जताई है। सुबह 6:30 से 8:30 के बीच विमानतल क्षेत्र में 5.4 मिलीमीटर बारिश दर्ज की गई। इसके साथ ही बारिश का कुल आंकड़ा से 232.6 मिमी (9.2 इंच) हो गया है। बताया जा रहा है कि 13 से 17 जुलाई के बीच इंदौर में झमाझम बारिश की संभावना है। इसके साथ ही बारिश के बीच तेज ठंड का एहसास भी हो सकता है जैसा एहसास नवंबर व दिसंबर के माह में होता है।