इंदौर। प्रति मंगलवार की तरह इस मंगलवार को भी कलेक्टर कार्यालय में जनसुनवाई संपन्न हुई। इस जनसुनवाई में कलेक्टर डॉ इलैयाराजा टी सहित अन्य अधिकारियों ने सैकड़ों नागरिकों की समस्याओं को गंभीरता के साथ सुना और उनका सहानुभूति पूर्वक निराकरण किया। कलेक्टर इलैया राजा टी ने इन्हीं में से एक नेत्रहीन दंपत्ति की समस्या को गंभीरता से सुनकर उन्हें जीने का नया सहारा दिया है।

जनसुनवाई में आज एक नेत्रहीन दंपत्ति केदार पटेल और उनकी पत्नी अनिता पटेल आए। उन्होंने कलेक्टर डॉ. इलैयाराजा टी को अपनी समस्या बताई। उन्होंने बताया कि पिछले दिनों उनके घर में चोरी हो गयी। वैसे ही कोई स्थायी रोजगार नहीं है। छोटे स्तर पर सब्जी बेचकर जैसे तैसे गुजारा कर रहे थे। ऐसे में चोरी हो गयी। जिससे एक नया संकट सामने आ गया।

कलेक्टर ने उनकी समस्या को सुनकर रोजगार के स्थायी हल के बारे में पूछा। अनिता ने बताया कि वह एमए उत्तीर्ण है। कम्प्यूटर भी चलाना आता है। फोटोकॉपी मशीन भी मैं और मेरे पति चला सकते हैं। हमारे निवास स्थान रूपनगर छोटा बागडदा में कोई फोटोकॉपी मशीन की दुकान भी नहीं है। फोटोकॉपी मशीन की दुकान वहां अच्छे से चल सकती है। कलेक्टर डॉ. इलैयाराजा टी ने फोटोकॉपी मशीन क्रय करने के लिए एक लाख रूपये की राशि हाथो-हाथ स्वीकृत की। निराशा से भरे आए इस दंपत्ति में आशा का नया संचार हुआ, उन्हें जीवन का नया सहारा मिला।

Also Read : Optical Illusion : तस्वीर में छिपी मछली को ढूंढे 15 सेकंड में, मानें जाएंगे जीनियस

इसी तरह जनसुनवाई में आए अन्य लोगों को भी राहत मिली। इंडेक्स मेडिकल कॉलेज से एमबीबीएस कर रहे कुछ विद्यार्थी जनसुनवाई में पहुंचे। उन्होंने बताया कि उन्हें कम स्कॉलरशीप मिल रही है। वे इस कारण पूरी फीस जमा नहीं कर पा रहे हैं। इस कारण उन्हें परीक्षा में बैठने की अनुमति नहीं मिल रही है। कलेक्टर ने तुरंत चर्चा कर इन्हें परीक्षा से वंचित नहीं करने के निर्देश दिए।