सऊदी अटैक से बढ़ेगी भारत की परेशानी, 5-6 रुपए उछलेंगे पेट्रोल-डीजल के दाम!

0
103
petrol

नई दिल्ली। सऊदी अरब में अरामको के कच्चा तेल के प्लांटों पर हमले के बाद तेल आपूर्ति का संकट खड़ा हो सकता है और इसका असर भारत पर भी पड़ेगा। बताया जा रहा है कि तेल आपूर्ति संकट के बीच एक पखवाड़े के दौरान भारत में पेट्रोल और डीजल के दाम पांच से छह रूपए तक महंगा हो सकता है। हालांकि फिलहाल दिल्ली में पेट्रोल का भाव अभी करीब 72 रुपए प्रति लीटर है। कोटक की एक रिपोर्ट के मुताबिक वैश्विक बाजार में कच्चे तेल के दाम में उछाल आने से भारत की तेल मार्केटिंग कंपनियां 15 दिन में डीजल और पेट्रोल के दाम में 5-6 रुपए प्रति लीटर की वृद्धि कर सकती हैं।

सऊदी अरब में अरामको के तेल संयंत्र पर हुए ड्रोन हमले के बाद सोमवार को वैश्विक बाजार में कच्चे तेल की कीमतों में आग लग गई। लंदन का ब्रेंट क्रूड फ्यूचर 19.5 फीसदी बढ़कर 71.95 डॉलर प्रति बैरल तक पहुंच गया। यह 14 जून 1991 के बाद कच्चे तेल की कीमतों में सबसे बड़ा उछाल है। जानकारों का मानना है कि मंदी से जूझ रहे भारत के लिए यह मुश्किल की घड़ी है। बताया जा रहा है कि सऊदी अरब के प्लांट में तेल आपूर्ति सामान्य होने में कई हफ्ते लग सकते हैं। इस हमले से करीब 5 फीसदी ग्लोबल सप्लाई पर असर पड़ा है। अगले एक हफ्ते में ही कच्चे तेल की कीमतों में 15 से 20 डॉलर प्रति बैरल की बढ़त हो सकती है।

सार्वजनिक कंपनी एचपीसीएल के चेयरमैन एम.के. सुराणा ने न्यूज एजेंसी रॉयटर्स से कहा कि कच्चे तेल की कीमतों में यदि 10 फीसदी से ज्यादा की तेजी बनी रही तो पेट्रोल पंपों पर मिलने वाले ईंधन की कीमतों पर भी असर पड़ सकता है। इधर, केंद्रीय पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने सोमवार को ट्वीट किया कि सऊदी के अरामको केंद्र पर हमले के बाद हमने अरामको के टॉप एक्जीक्यूटिव्स से संपर्क किया है। हमने सितंबर के अपने क्रूड ऑयल सप्लाई की ओएमसी (तेल मार्केटिंग कंपनियों) के साथ समीक्षा की है। हमें पूरा भरोसा है कि भारत में आपूर्ति बाधित नहीं होगी और हम हालात पर गहराई से नजर रखे हुए हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here