वर्ल्ड बाॅक्सिंग चैंपियनशिप में भारतीय बाॅक्सर अमित पंघाल ने रचा इतिहास

Amit panghal

नई दिल्ली। एआईबीए वर्ल्ड बाॅक्सिंग चैंपियनशिप में भारतीय बाॅक्सर अमित पंघाल ने शानदार प्रदर्शन करते हुए इतिहास रच दिया है। 52 किग्रा वर्ग के क्वार्टर फाइनल में मुक्केबाज कजाक को हराकर फाइनल में जगह बना ली है। अमित वर्ल्ड बाॅक्सिंग के फाइनल में पहुंचने वाले देश के पहले पुरूष बाॅक्सर बन गए हैं। इतना ही नहीं, भारतीय बाॅक्सर पहली बार वल्र्ड बाॅक्सिंग चैंपियनशिप में गोल्ड मेडल जीत सकता है। इधर, भारतीय बाॅक्सर मनीष कौशिक को क्वार्टर फाइनल में हार का सामना करना पड़ा, उन्हें क्यूबा के एंडी क्रूज ने हराया।

इस तरह मनीष को कांस्य पदक से संतोष करना पड़ा। हालांकि महिला बाॅक्सिंग में एमसी मैरीकाॅम छह बार विश्व चैंपियन रह चुकी है। अमित पंघाल ने शुक्रवार को खेले गए क्वार्टर फाइनल में कजाकिस्तान के साकेन बिबिसोनोव को करीबी मुकाबले में हराया। भारतीय मुक्केबाज ने फ्लाईवेट कैटेगरी का यह मुकाबला 3-2 से जीता। अमित पंघाल ने पिछले साल एशियन गेम्स में गोल्ड मेडल जीता था।भारत के बॉक्सिंग इतिहास में आज तक कोई भी पुरुष खिलाड़ी विश्व बॉक्सिंग चैंपियनशिप में गोल्ड या सिल्वर मेडल नहीं जीत सका है| भारत के चार पुरुष बॉक्सरों ने विश्व बॉक्सिंग चैंपियनशिप में ब्रॉन्ज मेडल जीते हैं| विजेंदर सिंह (2009) ऐसा करने वाले पहले बॉक्सर हैं| विकास कृष्णन (2011), शिवा थापा (2015) और गौरव विधूड़ी (2017) भी ब्रॉन्ज मेडल जीत चुके हैं|