उत्तर प्रदेशदेश

प्रियंका गांधी के प्रस्ताव को योगी सरकार ने दी मंजूरी, कांग्रेस चलाएगी 1000 बसें

नई दिल्ली। लाॅकडाउन के कारण फंसे मजदूरों की समस्या के लिए सरकार भी अब अपनी चिंता दिखेने लगी है। वहीं इस पर विपक्ष भी तंज कसने का कोई मौका नहीं छोड़ रहा है। बीते दिनों प्रियंका गांधी ने यूपी में मजदूरों के लिए 1000 बसे देेने का प्रस्ताव राज्य सरकार को दिया था जिस पर अब योगी सरकार ने स्वीकृती दे दी है।

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार इन बसों को यूपी बॉर्डर पर खड़ा किया गया था लेकिन, यूपी सरकार ने इस प्रस्ताव को ठुकरा दिया था और कहा था कि सरकार की ओर से पर्याप्त मात्रा में बसों का इंतजाम किया जा रहा था। जिस पर प्रियंका ने योगी सरकार को आड़े हाथ लेते हुए कई सवाल उठाए थे। जिसके बाद अब योगी सरकार ने कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी के 1000 बसों का प्रस्ताव स्वीकार करते हुए चालक,परिचालक का नाम समेत सूची मांगी है।

पहले नहीं दी थी अनुमति 

बता दें कि प्रियंका गांधी ने 16 मई को उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को पत्र लिखा था। जिसमें उन्होंने प्रवासी मजदूरों को सुरक्षित उनके घर पहुंचाने के लिए यह मांग की थी कि सरकार कांग्रेस को 1,000 बसों के परिचालन की अनुमति दें। बस का पूरा खर्च कांग्रेस पार्टी उठाएगी। जिस पर पहले तो योगी सरकार ने अनुमति देने से साफ मना कर दिया था। जिस पर प्रियंका गांधी ने योगी सरकार पर सवाल उठाते हुए विरोध किया था।

जबाव में लिखा पत्र 

इसके जबाव में योगी सरकार की ओर से प्रियंका गांधी वाड्रा को जवाबी पत्र दिया गया। जिसमें कहा कि मुख्यमंत्री को संबोधित पत्र में प्रवासी मजदूरों को लाने के लिए अपने स्तर पर 1,000 बसों को चलाने के आपके प्रस्ताव को स्वीकार किया जाता है। योगी सरकार ने कांग्रेस से बसों की सूची, चालक और परिचालक का नाम और अन्य विवरण उपलब्ध कराने को कहा गया है, जिससे इनका उपयोग प्रवासी श्रमिकों की सेवा में किया जा सके।