उत्तर प्रदेशदिल्लीदेश

लाॅकडाउन 4.0 के पहले ही दिन यूपी-दिल्ली में दिखे ऐसे हाल, तस्वीरें कर देंगी परेशान

नई दिल्ली। 18 मई से लाॅकडाउन के चौथे चरण की शुरुआत हो चुकी है। इस लाॅकडाउन के लिए नई गाइडललाइन के अनुसार छूट को लेकर फैसले की जिम्मेदारी केंद्र सरकार ने राज्य सरकार पर सौंपी है। ऐसे में दिल्ली ने भी कई बड़े फैसले लिए और कई क्षेत्रों में ढील भी दी। जिसके बाद दिल्ली में ऐसी एक तस्वीर को देखना पड़ा जिसमें लोगों मानों कोरोना का कोई खौफ ही ना हो।

सोमवार सुबह लाॅकडाउन 4.0 के पहले ही दिन दिल्ली-नोएडा बॉर्डर पर भीषण जाम दिखा, तो हजारों की संख्या में मजदूर गाजियाबाद में संघर्ष करते हुए नजर आए। वहीं दिल्ली के पटपड़गंज इलाके में सैकड़ों की संख्या में लोग बसों के लिए भटकते हुए नजर आए। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक दिल्ली के पटपड़गंज इलाके में आज सुबह से ही सैकड़ों मजदूर बसों के इंतजार में खड़े हैं। यहां बुजुर्ग महिलाओं से लेकर बच्चे तक शामिल हैं, जो धूप में बसों का इंतजार कर रहे हैं।

दिल्ली में हालात हुए बेकाबू 

यहां मौजूद लोगों का कहना है कि वह धूप में सुबह से खड़े हैं, ना ही बस है और ना ही खाने का कुछ इंतजाम। अचानक ही मजदूरों की भीड़ बढ़ने के कारण प्रशासन को मंडावली मार्ग को बंद करवाना पड़ा, वहीं इलाके के थाना प्रभारी राजीव कुमार खुद मजदूरों के बीच आए और उनसे सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करने की अपील की। वहीं लाॅकडाउन में छूट मिलने के कारण उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद में भी दिल्ली जैसे ही हाल देखने को मिले।

यूपी में भी रहा ऐसा ही आलम 

यहां सोमवार सुबह से ही मजदूरों की भीड़ जमा है। रामलीला मैदान में मजदूरों को वेरिफिकेशन के लिए इकट्ठा किया गया है। सोमवार को ही यहां से तीन ट्रेनें रवाना होनी हैं, जो यूपी के अलग-अलग इलाकों से होते हुए बिहार जाएंगी। इस दौराना अचानक ही मजदूरों की संख्या हजारों में पहुंच गई और हालात बेकाबू हो गए। ऐसे में एक बार फिर यहां सोशल डिस्टेंसिंग के नियम को लोगों ने नजर अंदाज कर दिया।