breaking newsउत्तर प्रदेशदेश

प्रवासी मजदूरों के लिए मोदी का तोहफा, यूपी में लाॅन्च किया आत्मनिर्भर अभियान

नई दिल्ली। कोरोना वायरस के बीच प्रवासी मजदूरों की समस्या अब भी खत्म नहीं हुई है। भले ही वे अपने घर लौट गए हैं लेकिन उनकी रोजी रोटी की समस्या अब भी बनी हुइ है। वहीं इस समस्या के लिए सरकार लगातार कोई ना कोई स्कीम लाने का प्रयास कर रही है।

इसी बीच उत्तर प्रदेश में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राज्य सरकार के ‘आत्मनिर्भर यूपी रोजगार अभियान’ की शुरुआत की। मीडिया रिपोर्ट के अनुसार इस योजना के तहत करीब सवा करोड़ मजदूरों को रोजगार मिलेगा। इस योजना को शुरु करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कई खास बाते कही जो कि इस प्रकार रही।

  • उन्होंने कहा कि हमने अपने जीवन में उतार चढ़ाव देखे हैं, सामाजिक जीवन में कई तरह की कठिनाई आती हैं। किसी ने नहीं सोचा था कि पूरी दुनिया पर एक साथ इतना बड़ा संकट आएगा।
  • हमें नहीं पता कि इस बीमारी से कब मुक्ति मिलेगी। इसकी अभी एक ही दवाई है दो गज की दूरी।
  • हमारी सरकार ने इस बीच गरीब कल्याण रोजगार अभियान शुरू किया है, इसी के तहत यूपी आत्मनिर्भर अभियान चल रहा है।
  • योगी सरकार का शानदार काम आने वाली पीढ़ियां याद करेंगी। यूपी पर इसलिए भी ध्यान देना जरूरी है, क्योंकि यूपी कई देशों से बड़ा है।
  • यूरोप के अगर इंग्लैंड, फ्रांस, इटली और स्पेन की कुल जनसंख्या 24 करोड़ है। यहां अकेले यूपी की संख्या 24 करोड़ है। लेकिन इन चार देशों में मिलाकर एक लाख तीस हजार लोगों की मौत हो गई है, लेकिन यूपी में सिर्फ 600 लोगों की जान गई है।
  • प्रदेश में जितने भी प्रवासी श्रमिक आए हैं 18 साल से कम बच्चों को छोड़कर लगभग 30 लाख मजदूरों की स्किल मैपिंग की गई है।
  • इस योजना के तहत प्रदेश लौटे करीब सवा करोड़ मजदूरों को अलग-अलग क्षेत्र में रोजगार मिलेगा। इसके तहत 25 अलग-अलग योजनाओं को एक जगह समाहित किया गया है।