मध्य प्रदेश

विनय बाकलीवाल का आरोप, गरीबों की सब्जी-फल जब्त कर आपस में बांट रहे अधिकारी

इंदौर: शहर कांग्रेस अध्यक्ष विनय बाकलीवाल ने आरोप लगाया कि इंदौर में गरीब सब्जी विक्रेताओं के साथ अन्याय का सिलसिला रुक नहीं रहा है। उन्होंने कहा कि सिर्फ सामान लूटना की निगम अधिकारियों की मंशा है। यदि कार्रवाई करना है तो जब्ती का पंचनामा क्यों नहीं बनाते? उन्होंने आरोप लगाया कि गरीबों की जब्त की हुई सब्जियां और फल अधिकारी आपस में बांट लेते है। आखिर कब तक ये सरकार गरीबो के पेट पर लात मारती रहेगी? आखिर कब तक ये गरीबों के साथ तानाशाही होती रहेगी।

बाकलीवाल ने कहा कि इन दिनों भाजपा के नेताओं में सोशल डिस्टेंसिंग की धज्जियां उड़ने की होड़ लगी हुई है। भाजपा नेता तुलसी सिलावट तो अति उत्साह में आकर आए दिन अपने समर्थकों को भोपाल ले जाकर सोशल डिस्टेंसिंग का पालन ना करने वाला वीडियो और फोटो डाल रहे है, लेकिन उन पर कोई कार्रवाई करने की हिम्मत नहीं जुटा पा रहा।

बाकलीवाल ने कहा कि क्या इस प्रदेश में दो कानून काम कर रहे है। जनता के लिए सख्त कानून बनाए जा रहे हैओर अगर उन पर जनता अमल नही करे तो फाइन ओर एफआईआर तक की जा रही है। वहीं दूसरी तरफ भाजपा नेता बिंदास कानून को अपने हाथों में लेकर तोड़ रहे है। बाकलीवाल ने कहा कि भाजपा नेताओं और जनता के बीच मे दो अलग अलग कानून नही चलेंगे। इसका हम कांग्रेस पार्टी की ओर से सख्त विरोध करते है।

शिवराज सरकार पर निशाना साधते हुए बाकलीवाल ने कहा कि ये मध्यप्रदेश की केसी विडंबना है, मजदूर मजदूरी नही मिलने के कारण दर-दर भटकने पर मजबूर है, ग़रीबो को दो समय के भोजन की जद्दोजहद, व्यापारी तालाबंदी से परेशान, मध्यमवर्गीय अपना घर चलाने के लिए परेशान, किसान बेहाल कुल मिलाकर हर वर्ग परेशान है लेकिन मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री मस्त है, हंसी ठिठोली कर रहे है और साथ मे भाजपा के लोगो को भी शामिल कर रहे है,ये मध्यप्रदेश की विडंबना है।

बाकलीवाल ने कहा कि अर्थव्यवस्था पूरी तरह से चरमरा गई है। मजदूर परेशान, गरीब परेशान, मध्यमवर्गीय परेशान, किसान परेशान व्यापारी परेशान और ऊपर से भारी बिजली बिल भरने का दबाव। गली-गली, मोहल्लों-मोहल्लों में रिक्शा से अनाउंसमेंट किया जा रहा है, अगर बिजली के नही भरे तोह इस भीषण गर्मी में आपके घर की बिजली काट दी जाएगी।अपने आप को संवेदनशील मुख्यमंत्री कहने वालो की ये कैसी असंवेदनशीलता। जब विपक्ष में थे तो चिल्ला-चिल्ला कर कह रहे थे, कोइ भी बीजली का बिल मत भरना, मैं काटा गया कनेक्शन जोड़नेआऊंगा। अब जब वे मुख्यमंत्री है तो उन्हें अपने बयान क्यो याद नही आ रहे है।

हमारी सरकार से मांग है कि जिस प्रकार बिजली बिल भरने के लिए दबाव डाला जा रहा है,ओर दहशत का माहौल पैदा किया जा रहा है, इसे शीघ्र रोका जाए। लॉकडाउन के समय का बिजली बिल माफ किया जाए नहीं तो कांग्रेस पार्टी को सड़क पर उतरना पड़ेगा।

Related posts
देशमध्य प्रदेश

नगर निगम भरेगा अपना खजाना, पिकनिक हब बनेगा वाचु पॉइंट

इंदौर। नगर निगम इंदौर अपना खजाना भरने…
Read more
देशमध्य प्रदेश

बहुत जल्द बच्चों को नेहरू पार्क में मिलेगी ट्रेन की सौगात

इंदौर के छोटे बच्चों को बहुत ही जल्द…
Read more
देशमध्य प्रदेश

लोगों के नाम उजागर न हो इसलिए एनकाउंटर है : पीसी शर्मा

भोपाल : कांग्रेस के पूर्व मंत्री पीस…
Read more
Whatsapp
Join Ghamasan

Whatsapp Group