मध्य प्रदेश

इंदौर में शुरू होगी आर्थिक गतिविधि, खुलेगा सांवेर रोड, पोलोग्राउंड और न्यू सीयागंज

इंदौर। लॉकडाउन 4 में केंद्र सरकार ने जिस तरह से आर्थिक गतिविधियां शुरू करने पर जोर दिया है, वैसे ही अब राज्य सरकारें भी स्थिति को देखते हुए अपने-अपने फैसले ले रही है। स्थानीय प्रशासन भी स्थितियों को देखकर दुकाने खुलवाने का फैसला ले रहा है।

इंदौर कलेक्टर मनीष सिंह ने ग्रामीण क्षेत्रों में शराब की दुकानें खोलने के निर्देश भी दिए। 29 गांवों के साथ अब सांवेर रोड, पोलोग्राउंड, न्यू सीयागंज और लोहा मंडी को भी खुलवाया जा रहा है। आज इस संबंध में कलेक्टर द्वारा आदेश जारी कर दिए जाएंगे। इसी तरह नेमावर, पालदा, ट्रांसपोर्ट नगर सहित अन्य क्षेत्रों में भी गतिविधियां शुरू करवाई जा रही है।

मुख्यमंत्री की वीडियो कान्फ्रेंस के बाद कल रात कलेक्टर मनीष सिंह ने रेसीडेंसी पर क्राइसिस मैनेजमेंट ग्रुप की बैठक ली, जिसमें किस तरह से उद्योगों को खोला जाए उस पर ग्रुप के सदस्यों से चर्चा की गई। इस बैठक में सांसद के अलावा विधायक महेन्द्र हार्डिया, मालिनी गौड़, उषा ठाकुर, विशाल पटेल, संजय शुक्ला सहित डीआईजी, निगमायुक्त और अन्य अधिकारी मौजूद रहे। 29 गांवों में छूट के बाद बाजार खुलने लगे, जिनमें मोबाइल, इलेक्ट्रॉनिक, किराना, जनरल स्टोर सहित अन्य दुकानें शामिल हैं। इसी तरह शहर के तमाम औद्योगिक क्षेत्रों को भी एक-एक कर खोला जा रहा है।

कलेक्टर मनीष सिंह के मुताबिक न्यू लोहा मंडी के व्यापारियों को भी अनुमति दी जा रही है। इसी तरह नेमावर रोड, पालदा के साथ ही सांवेर रोड में ए से लेकर एफ सहित सभी सेक्टरों में औद्योगित गतिविधियां शुरू करवाई जाएगी। इसी तरह पोलोग्राउंड क्षेत्र के भी सभी उद्योगों को अनुमति दी जा रही है। भंवरकुआ, देवास नाका और अन्य जगह स्थित ट्रांसपोर्ट कार्यालय गोदामों को भी खुलवाया जा रहा है।

वहीं न्यू सीयागंज को भी अनुमति दी जाएगी। इन सभी स्थानों को सोशल डिस्टेंसिंग से लेकर कोरोना संक्रमण से बचने के मापदंडों का कढ़ाई से पालन करना पड़ेगा। चार्टर्ड एकाउंटेंट के भी कार्यालय खुलवाए जा रहे हैं, क्योंकि औद्योगिक गतिविधि शुरू करने के साथ लोगों को परेशानी आ रही है, क्योंकि असेसमेंट, जीएसटी सहित अन्य करों को ऑनलाइन भरने के लिए चार्टर्ड एकाउंटेंट की जरूरत है। लिहाजा इनके भी सभी दफ्तरों को खोलने की अनुमति दी जाएगी, लेकिन ये चार्टर्ड एकाउंटेंट अपने क्लाइंट को ऑनलाइन ही परामर्श देंगे और दस्तावेज भी ऑनलाइन ही मंगवाएंगे।

कोरोना संक्रमित के नाम नहीं होंगे उजाग

स्वास्थ्य सेवाएं मध्यप्रदेश आयुक्त ने एक आदेश भेजकर कोरोना संक्रमित व्यक्तियों की जानकारी सार्वजनिक करने पर रोक लगा दी। अभी पिछले कुछ दिनों से प्रशासन कोरोना पॉजिटिव और नेगेटिव मरीजों की सूची एनआईसी की वेबसाइट पर रोजाना अपलोड कर रहा था, मगर अब इस पर रोक लगा दी है। किसी तरह की जानकारी सार्वजनिक प्लेटफॉर्म पर उपलब्ध नहीं होगी और पूर्व में अपलोड की गई जानकारी को भी विलोपित करने के निर्देश दिए हैं। भारत सरकार और राज्य शासन ने संक्रमित व्यक्तियों की गोपनीयता बनाए रखने के लिए यह निर्देश दिए हैं। दरअसल इससे लोगों में डर और दहशत बढ़ती है और कॉलोनी, मोहल्ले और बिल्डिंगों के लोग कोरोना संक्रमित परिवार को अपना दुश्मन मानने लगते हैं।

31 मई तक सभी सिनेमा घर रहेंगे बंद

राज्य शासन ने मध्यप्रदेश सिनेमा (विनियमन) अधिनियम-1952 के तहत प्रदेश में संचालित सभी सिनेमाघरों को 31 मई, 2020 तक के लिये बंद रखे जाने के आदेश जारी किये हैं। उल्लेखनीय है कि पूर्व में प्रदेश के सभी सिनेमाघरों को 17 मई, 2020 तक के लिये बंद रखने के आदेश जारी किये गये थे।