मध्य प्रदेश

अरविंदो से 120 मरीज हुए डिस्चार्ज, नवजात को आरती उतारकर दी विदाई

इंदौर: इंदौर में कोरोना को हराकर आगे बढ़ चलने का सिलसिला सतत् जारी है। आज एक बार फिर से खुशियों का यह कारवां आगे बढ़ा है। आज अरविंदो हॉस्पिटल से एक साथ 120 मरीज़ों को सफल उपचार के पश्चात स्वस्थ कर उन्हें अपने घरों की ओर रवाना किया। कोरोना इलाज के दौरान एक महिला ने बच्चे को जन्म दिया। जन्म के पश्चात महिला एवं बच्चे का विशेष ध्यान रखा गया। उन्हें स्वस्थ कर आज भावपूर्ण वातावरण में विदाई दी गई। बच्चे को जन्म देने वाली महिला, महिला के पति और नवजात शिशु की आरती उतारकर विदाई दी गई। सम्मान स्वरूप बच्चे को झूला तथा माता-पिता को श्रीफल भेंट किया गया।

अपने इलाज तथा बच्चे की देखरेख से विदाई के समय महिला भावुक हो उठी। रूंधे गले से उसने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, अस्पताल के चिकित्सक, नर्स, पैरामेडिकल स्टाफ, प्रबंधक आदि को धन्यवाद दिया। इस महिला ने बताया कि मुझे कोरोना के लक्षण दिखाई दिए। 11 मई को हॉस्पिटल आई और 12 मई को डिलेवरी हुई। इस विकट परिस्थिति में अस्पताल प्रबंधन ने मेरा और नवजात बच्चे का बहुत ध्यान रखा। बहुत अच्छी सुविधाएं दी। किसी भी तरह की परेशानी नहीं हुई। मेरे लिए यह समय बहुत चुनौतीपूर्ण था। सभी ने मेरा ध्यान रखकर सफल इलाज किया। बच्चे को भी परेशानी नहीं होने दी। आज हम दोनों सकुशल घर जा रहे हैं। आज ही नवजात बच्चे का परिजनों ने मुंह देखा है। अस्पताल प्रबंधन ने बच्चे और महिला को उसके पति के साथ पुष्प वर्षा कर विदाई दी।

आज डिस्चार्ज हुए अन्य मरीजों ने भी शासन-प्रशासन को धन्यवाद दिया। डिस्चार्ज हुए मरीजों का कहना था कि हमें अस्पताल में सभी सुविधाएं मिली। बेहतर से बेहतर इलाज हुआ। इसके फलस्वरूप स्वस्थ होकर आज हम अपने घरों की ओर रवाना हो रहे हैं। सभी का धन्यवाद।