देशमध्य प्रदेश

इंदौर: शासकीय कार्यालय में 100 फीसदी स्टाफ के साथ होगा काम

इंदौर: इंदौर जिले में अब कर्मचारियों की शत प्रतिशत उपस्थिति के साथ केन्द्र और राज्य शासन के सभी शासकीय कार्यालय, अर्द्ध शासकीय तथा निगमों के कार्यालय संचालित होंगे। इस संबंध में कलेक्टर मनीष सिंह ने आदेश जारी कर दिये है।

जारी आदेशानुसार उक्त समस्त श्रेणी के कार्यालयों में कर्मचारियों की शत प्रतिशत उपस्थिति मान्य की जायेगी। पूर्व में कोरोना संक्रमण के मद्देनजर उक्त कार्यालयों को 50 प्रतिशत कर्मचारियों की उपस्थिति में संचालित करने के संबंध में जारी आदेश को समाप्त किया गया है। कलेक्टर मनीष सिंह ने जारी आदेश में निर्देश दिये है कि कार्यालयों को समय-समय पर शासन एवं स्थानीय स्तर पर जारी निर्देशों का पालन करना अनिवार्य होगा। कार्यालयों में चिकित्सकीय मापदण्डों का पालन सुनिश्चित करना होगा। सोशल डिस्टेसिंग, मॉस्क तथा सेनेटाईजर का उपयोग करना अनिवार्य रहेगा।

कोरोना से प्रभावित हुए  25 मरीजों को स्वस्थ कर किया गया डिस्चार्ज

इंदौर: इंदौर जिले में कोरोना से प्रभावित मरीजों का सफल उपचार किया जा रहा है। इसके फलस्वरूप जिले में लगातार स्वस्थ होकर मरीज डिस्चार्ज हो रहे है। आज भी दो अस्पतालों से 25 मरीजों को डिस्चार्ज किया गया। इनमें अरविंदो हॉस्पिटल से 18 तथा एमआरटीबी हॉस्पिटल से 7 मरीज डिस्चार्ज किये गये।

कोरोना को परास्त कर डिस्चार्ज हुए मरीज विजयी भाव से घर को लौटें। स्वस्थ होने की खुशी उनके चेहरे पर परिलक्षित हो रही थी। उन्होंने शुक्रिया अदा करते हुये कहा कि शासन प्रशासन के सहयोग से हमारा नि:शुल्क इलाज हुआ। इलाज के दौरान बेहतर चिकित्सकीय सुविधाएं और सेवाएं उपलब्ध कराई गई। इसके लिये उन्होंने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान सभी डॉक्टर, नर्स, अस्पताल के अन्य स्टाफ एवं जिला प्रशासन का आभार व्यक्त किया।

मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी कार्यालय द्वारा 26 जून, 2020 को जारी बुलेटिन के अनुसार इंदौर में उपचाररत कोरोना पॉजिटिव मरीजों की संख्या अभी 960 हैं। बुलेटिन के अनुसार 26 जून तक 80 हजार 90 नागरिकों के सैम्पल लिये गये। इसमें से 4 हजार 575 पॉजिटिव पाये गये। इनमें से 218 की मृत्यु हुई। इंदौर में 26 जून तक 3 हजार 397 मरीजों का सफल उपचार कर उन्हें अस्पतालों से डिस्चार्ज किया गया। इस अवधि में इंदौर में 960 मरीज उपचाररत हैं।