देश

भारत में 28 फीसदी कोरोना मरीजों में नहीं दिखे संक्रमण के लक्षण, बढ़ी चिंता

नई दिल्ली। भारत में कोरोना वायरस के मामले तेजी से बढ़ते जा रहे हैं। इसी बीच हाल ही में आई एक रिपोर्ट ने और अधिक चिंतस बढ़ा दी है। दरअसल, रिपोर्ट के अनुसार देश में 22 जनवरी से 30 अप्रैल के बीच मिले कोरोना के 40 हजार 184 संक्रमित मामलों में से 28 फीसदी ऐसे मामले हैं जिनमें कोरोना के लक्षण नहीं पाए गए थे।

आईसीएमआर के अध्ययन की मानें तो 28.1 फीसदी ऐसे मामले हैं जिसमें कोरोना मरीजों में संक्रमण के कोई लक्षण नहीं दिखे। जबकि 25.3 फीसदी मामलों में प्रत्यक्ष और सीधे संपर्क वाले मामले हैं, इतना ही नहीं 2.8 फीसदी मामले स्वास्थ्य सेवाओं में जुटे कर्मचारियों के हैं जिनके पास पर्याप्त सुरक्षा मौजूद नहीं थी। आईसीएमआर के नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ एपिडेमियोलॉजी के निदेशक मनोज मोरेकर ने कहा कि बिना लक्षण वाले कोरोना मरीजों की संख्या 28.1 से ज्यादा हो सकती है जो की चिंता का विषय है।

रिपोर्ट की माने तो 22 जनवरी से 30 अप्रैल के बीच देश में कोरोना के 10 लाख 21 हजार 518 परीक्षण किए गए थे। इस दौरान मार्च की शुरुआत में 250 लोगों का प्रतिदिन टेस्ट किया जाता था जबकि अप्रैल के अंत में यह संख्या बढ़कर 50 हजार पर पहुंच गई। कुल मिलाकर 40 हजार 184 यानी 3.9 फीसदी लोगों में कोरोना संक्रमण की पुष्टि हुई।

बता दे कि भारत के दिल्ली, महाराष्ट्र, केरल, पंजाब, हरियाणा, तमिलनाडु, आंध्र प्रदेश और गुजरात ऐसे राज्य है जहां के जिलों से कोरोना के सर्वाधिक मामले सामने आए हैं। जबकि राज्यों या केंद्र शासित प्रदेशों की बात करें तो महाराष्ट्र से 10.6 फीसदी, दिल्ली से 7.8 फीसदी, गुजरात से 6.3 फीसदी, मध्य प्रदेश से 6.1 फीसदी और पश्चिम बंगाल से 5.8 फीसदी मामले सामने आए हैं।