दिल्लीदेश

145 नए जिले बन सकते हैं कोरोना हाॅटस्पाॅट, मजदूरों के पलायन से बढ़ रही टेंशन

नई दिल्ली। कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए केंद्र सरकार ने 145 नए जिलों की पहचान की है, जो आने वाले दिनों में कोरोना का हॉट स्पॉट बन सकते है। गौरतलब है कि देशभर में कोरोना संक्रमितों का आंकड़ा एक लाख 70 हजार को भी पार कर चुका है। और जिस हिसाब से कोरोना मरीजों की संख्या दिन प्रतिदिन बढ़ रही है। इससे यही अंदाजा लगाया जा सकता है कि अब बहुत जल्द से आंकड़ा दो लाख के भी पार पहुंचने वाला है।

ऐसे में देश में कोरोना के नए हाॅटस्पाॅट का मिलना यह खतरे को बढ़ाने जैसा ही है। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक कैबिनेट सचिव राजीव गौबा ने गुरुवार को अलग-अलग राज्यों के प्रतिनिधियों के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंस के जरिए बैठक की थी। जिसमें उन्होंने कहा था कि पूर्वी भारत कोरोना का अगला हॉट स्पॉट बन सकता है। राजीव गौबा के मुताबिक बिहार, बंगाल और ओडिशा समेत 12 राज्यों में बड़ी संख्या में प्रवासी मजदूर लौट रहे हैं। ऐसे में यहां कोरोना का खतरा बढ़ गया है।

बता दें कि पिछले कुछ हफ्ते से इन राज्यों में कोरोना के मरीजों की संख्या में भारी इजाफा हुआ है। उधर त्रिपुरा और मणिपुर में भी कोरोना के लगातार नए केस सामने आ रहे हैं। राज्यों की बात करें तो इस समय कोरोना वायरस महाराष्ट्र, तमिलनाडु, गुजरात, दिल्ली, राजस्थान, मध्य प्रदेश और आंध्र प्रदेश में सबसे ज्यादा कहर बरपा रहा है।

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार सरकार ने जिन 145 जिलों की पहचान की है वहां अभी करीब 2147 कोरोना के केस हैं। जिनमें से 26 जिले ऐसे हैं जहां 20 से ज्यादा केस हैं। इन जिलों में ज्यादातर जिले असम, छत्तीसगढ़, झारखंड, उत्तर प्रदेश, ओडिशा और मध्यप्रदेश में हैं। तो वहीं बिहार में दो तिहाई केस प्रवासी मजदूरों से जुड़े हैं।