सवा लाख डॉलर इनामी मलेशिया खुली सुपर-1,000 बैडमिंटन स्पर्धा में भारत की शुरुआत हार से हुई, क्वालालम्पुर में पहले दिन पांच में सेवारत को एकमात्र जीत ट्रेसा जोली और गायत्री गोपीचंद ने महिला युगल में दिलाई, किदांबी श्रीकांत के बाद साइना नेहवाल, आकर्षी कश्यप एवं कृष्ण प्रसाद गर्ग और विष्णुवर्धन गोड पंजला हार गए, दूसरे दिन भारत की पांच में से एक जीत तो तय है, लक्ष्य सेन को एच एस प्रणोय से ही जो खेलना है.

पूर्व विश्व उपविजेता, विश्व नंबर 13 किदांबी श्रीकांत, पहले दौर में विश्व नंबर 17 जापान के केंता निशिमोतो से 19-21,14-21से 42मिनट में हार गए, केंता निशिमोतो की श्रीकांत पर सातवें मुकाबले में यह दूसरी जीत ही हैं, 2018 में हांगकांग खुली स्पर्धा के क्वार्टर फाइनल में निशिमोतो ने चौथे क्रम के श्रीकांत को 21-17, 21-13से हराकर उलटफेर किया था, इसके बाद 2019में हुए दोनों मुकाबले श्रीकांत ने जीते थे, अनुभवी साइना नेहवाल के खेल में दम है लेकिन दमखम की कमी है.

यह फिर दिखाई दिया, विश्व नंबर 11चीन की हान युई ने विश्व नंबर 30 साइना नेहवाल को 43 मिनट के संघर्ष में तीन गेमों में 21-12,17-21,21-12से हराया, विश्व नंबर 32आकर्षी कश्यप, विश्व नंबर 23 ताईपेई की वेन चि हसु से 10-21,8-21से 26 मिनट में हार गई, ध्रुव कपिला और एम आर अर्जुन की जगह खेले विश्व नंबर 32ही कृष्ण प्रसाद गर्ग और विष्णुवर्धन गोड पंजला, विश्व नंबर 18 दक्षिण कोरिया के कांग मिन हयुक और सेओ स़ेयुंग जाई से10-21,18-21 से हार गए.

विश्व नंबर 16 ट्रेसा जोली और गायत्री गोपीचंद ने विश्व नंबर 28 हांगकांग की येयुंग नगा टिंग और येयुंग पुई लाम को 21-19, 21-14 से 34मिनट में हराया, पिछले साल आल इंग्लैंड में सेमीफाइनल खेली भारतीय जोड़ी 12 जनवरी को दूसरे दौर में विश्व नंबर 14 बुल्गारिया की गब्रियला और स्टेफनी स्तोएवा बहनों से खेलेगी, स्तोएवा ने पहले दौर में आठवें क्रम की मलेशिया की पेअर्ली तान और थिनाह मुरलीथरन को 21-19, 21-14 से ही 31मिनट में हराया.

केंतो मोमोता और रत्चनोक इन्तेनान हटे

पूर्व विश्व विजेता जापान के केंतो मोमोता के हटने से उनकी जगह खेले मलेशिया के डारेन लैव ने फ्रांस के टोमा जूनियर पोपोव को 21-15,14-21,21-17से 59मिनट में हराकर दूसरे दौर में जगह बनाई, विश्व नंबर एक डेनमार्क के विक्टर एक्सेलसेन ने हमवतन रास्मुस जेम्के को 21-17,14-21,21-12 से एक घंटे 5मिनट में हराया, दो पूर्व विश्व नंबर दो खिलाड़ियों के बीच हुए मुकाबले में चौथे क्रम के ताईपेई के चोयु तैन चैन ने विश्व नंबर 34 चीन के शी युकी को एक घंटे 19मिनट के रोमांचक संघर्ष में 21-23, 24-22, 21-18 से हराया, चोयु ने दूसरा गेम 1-4से पीछे होकर 11-6,17-11,18-18और 19-19 के बाद तीन मैच पाइंट बचाकर जीता.

पिछली विजेता थाईलैंड की रत्चनोक इन्तेनान एवं महिला युगल में दूसरे क्रम नामि मत्सुयामा और चिहारु शिदा सहित जापान की दो जोड़ी हट गई हैं, विश्व नंबर 15 इंडोनेशिया की ग्रेगोरिआ मरिस्का तुनजुंग ने पांचवें क्रम की चीन की ही बिंग्जिआओ को 21-11, 21-17 से हराकर उलटफेर किया, मरिस्का की ही पर चौथे मुकाबले में पहली जीत है, पहले क्रम की जापान की अकाने यामागुची और अया ओहरी, थाईलैंड की बुसनान, तीसरे क्रम की ताइपेई की ताई त्झी यिंग एवं डेनमार्क की मिआ ब्लिचफेल्ड पहले दौर में जीती, इंडोनेशिया के जोनाटन क्रिस्टी और एंथोनी सिनुसुका जिंटिंग, डेनमार्क के एंडर्स एंटोन्सेन भी पहले दौर में जीत गए.

अब मार्च के अंत में…

फरवरी – मार्च वार्षिक परीक्षा का समय होता हैं, भारतीय बैडमिंटन संगठन इस दौरान भी सब जूनियर 15और 17 वर्ष आयु की अखिल भारतीय रैंकिंग बैडमिंटन स्पर्धा आयोजित कर रहा हैं! भारतीय बैडमिंटन संगठन महासचिव संजय मिश्रा ने बताया कि इसी वजह से हम अब हरियाणा में 14से 21फरवरी तक होने अखिल भारतीय सब जूनियर रैंकिंग बैडमिंटन स्पर्धा 21से 28 मार्च तक आयोजित करेंगे, यह स्पर्धा पंचकुला में होगी,जयपुर राजस्थान में 5से 12फरवरी तक अखिल भारतीय सब जूनियर 15और 17वर्ष रैंकिंग बैडमिंटन स्पर्धा हैं, वर्ष 2022-23की दो राष्ट्रीय बैडमिंटन स्पर्धाएं अगले दो महीने में हैं.

पुणे महाराष्ट्र में 22 से 28 फरवरी तक योनेक्स सनराइज 84वीं राष्ट्रीय सीनियर बैडमिंटन स्पर्धा हैं, 19 से 26 मार्च तक योनेक्स सनराइज भारतीय राष्ट्रीय मास्टर्स बैडमिंटन स्पर्धा गोआ में होगी , उदयपुर राजस्थान में 17 से 24 जनवरी तक योनेक्स सनराइज अखिल भारतीय मास्टर्स रैंकिंग बैडमिंटन स्पर्धा हैं

भारतीय खुली बैडमिंटन स्पर्धा में प्रवेश शुल्क नहीं

#सुपर 750 स्पर्धा-2023 ( 4)# योनेक्स सनराइज ,17 से 22 जनवरी तक नईदिल्ली में योनेक्स सनराइज भारतीय खुली सुपर-750 बैडमिंटन स्पर्धा हैं भारत बैडमिंटन संगठन महासचिव, स्पर्धा सचिव संजय मिश्रा ने बताया कि इस स्पर्धा की तैयारी जोरशोर से चल रही है, यह देश में होनेवाली विश्व टूर की अब तक की सबसे बड़ी अंतरराष्ट्रीय बैडमिंटन स्पर्धा है, दर्शक इंदिरा गांधी इंद्रप्रस्थ खेल परिसर के के डी जाधव इनडोर स्टेडियम में नि:शुल्क दुनिया के टाप खिलाड़ियों के खेल का लुफ्त उठा सकेंगे , भारतीय बैडमिंटन संगठन ने तकनीकी आफिशियल्स ( TO)सूची भी जारी कर दी हैं.

विश्व कप हॉकी भारत में चौथी बार: लगातार दूसरी बार ओडिशा में

15वीं विश्व कप हॉकी स्पर्धा 13 से 29 जनवरी तक राउरकेला और भुवनेश्वर में हैं, पहली बार कोई देश लगातार दूसरी बार इस स्पर्धा की मेजबानी कर रहा है, हमारे राष्ट्रीय खेल हॉकी में भारत ने 2021टोक्यो जापान में ओलंपिक पदक जीतकर उम्मीद जगाई है, अब तक सिर्फ दो देश नीदरलैंड्स और जर्मनी ही मेजबान होकर विश्व कप जीत सके हैं, भारत तो तीन बार मेजबानी कर एक बार भी सेमीफाइनल में भी नहीं पहुंच सका है, नीदरलैंड्स ने 1973 में भारत को फाइनल में पेनल्टी शूटआउट में 4-2 से हराकर पहली बार एम्सटेल्वीन नीदरलैंड्स में ऐसा किया, फिर 1998में उट्रेच में नीदरलैंड्स ने स्पेन को 3-2से हराकर एवं जर्मनी ने 2006 में ही ऐसा किया.

पिछली बार 2018 में भुवनेश्वर में बेल्जियम ने नीदरलैंड्स को पेनल्टी शूटआउट में 3-2से हराकर पहली बार विश्व कप हासिल किया, भारत क्वार्टर फाइनल में नीदरलैंड्स से 1-2 गोल से हारा, तीन बार की पूर्व विश्व विजेता आस्ट्रेलिया, इंग्लैंड को 8-1गोल से रौंदा कर तीसरे स्थान पर रहा, 2018 से पहले 2010में नईदिल्ली में और 1982में मुम्बई में भारत ने विश्व कप हॉकी स्पर्धा आयोजित की.

इस समय भारत की छठवीं विश्व रैंकिंग हैं, भारत “द”समूह में इंग्लैंड, स्पेन और वेल्स के साथ हैं, भारत पहला मैच 13जनवरी को राउरकेला में स्पेन से खेलेगा, 15जनवरी को इंग्लैंड से और 19जनवरी को वेल्स से है, भारतीय टीम की कमान रक्षक हरमनप्रीत सिंह के हाथों में है,11जनवरी को कटक के बाराबाती स्टेडियम में विश्व कप हॉकी ट्राफी उत्सव होगा,13जनवरी से 16देशों की टीमें राउरकेला और भुवनेश्वर में 44मैच खेलेगी

शतक जड़ने के बाद विराट कोहली का चौंकाने वाला खुलासा, कहा-‘मैच ऐसे खेलो जैसे…