पंजाब में कांग्रेस को धुकधुकी, यूपी भाजपा जैसे हालात न हो जाए

पंजाब में कांग्रेस को यह धुकधुकी है कि कहीं यहां कांग्रेस में भी यूपी भाजपा जैसी स्थिति उत्पन्न न हो जाए। हालांकि मौके की नजाकत भांपते हुए कांग्रेस आला कमान स्थिति पर नजर रखे हुए है...

congress candicate 2nd list

चंडीगढ़: पंजाब में कांग्रेस को यह धुकधुकी है कि कहीं यहां कांग्रेस में भी यूपी भाजपा जैसी स्थिति उत्पन्न न हो जाए। हालांकि मौके की नजाकत भांपते हुए कांग्रेस आला कमान स्थिति पर नजर रखे हुए है और टिकट बंटवारे मामले में कमान संभाले हुए है।

पंजाब में कांग्रेस ने मौकी की नजाकत भांपते हुए स्थिति को संभालने का प्रयास शुरू कर दिया है। दरअसल जिस तरह से उत्तर प्रदेश में भाजपा के अंदर खलबली मची हुई है उससे पंजाब में भी कांग्रेस के आला नेता चिंता में है। उन्हें इस बात की चिंता है कि कहीं पंजाब में यूपी तरह भाजपाई हाल न हो जाए।

गौरतलब है कि विधानसभा चुनाव की घोषणा के बाद से ही यूपी भाजपा में दल बदलने का सिलसिला शुरू हो गया है। लिहाजा पंजाब में भी कांग्रेस वैसी स्थिति को पनपने नहीं देना चाहती है जिस तरह की स्थिति यूपी में भाजपा की बनी हुई है।

यही कारण है कि टिकट बंटवारे के मामले में कांग्रेस आला कमान किसी तरह का विवाद खड़ा नहीं करना चाहती है और टिकट बंटवारे की कमान आला कमान ने ही संभाली है। बता दें कि कांग्रेस आला कमान ने अपने उम्मीदवारों की पहली सूची जारी की है और इसमें 86 उम्मीदवारों के नाम है।

इस सूची में ऐसे उम्मीदवारों को शामिल किया गया है, जिससे विरोध करने वाले सामने आने से कतरा रहे है, कुल मिलाकर कांग्रेस हाईकमान ने फिलहाल तो विरोधियों को चारों खाने चित्त कर दिया है। सूची में वे चेहरे भी शामिल है जो पूर्व मुख्यमंत्री अमरिन्दर सिंह के खास व करीबी माने जाते है। कुल मिलाकर पहली सूची के माध्यम से कांग्रेस हाईकमान ने अमरिन्दर को भी साधने का प्रयास किया है।