कोरोना के बाद विकास की चुनौतियों को लेकर महत्वपूर्ण सेमिनार का होगा आयोजन, 70 से ज्यादा रिसर्च पेपर किए जाएंगे प्रस्तुत

कांफ्रेंस में पुणे, अहमदाबाद, औरंगाबाद, आगरा, ग्वालियर, भोपाल से विद्वान और शोधार्थी भाग लेने आ रहे हैं। कांफ्रेंस में तकरीबन 70 रिसर्च पेपर प्रस्तुत किए जाएंगे। ये रिसर्च पेपर मीडिया, काॅमर्स, मैनेजमेंट, ह्यूमैनिटीज और साइंस विषय में प्रस्तुत किए जाएंगे।

इंदौर। सिका (SICA) काॅलेज की ओर से 23 जुलाई शनिवार को सिका काॅलेज निपानिया के आडिटोरियम में नेशनल कांफ्रेंस का आयोजन किया जा रहा है। कांफ्रेंस का विषय है कोरोना महामारी के बाद सतत विकास के लक्ष्य में चुनौतियां। (चैलेंजेस इन सस्टेनेबल डवलपमेंट गोल्स इन पोस्ट पेंडेमिक एरा) कांफ्रेंस के उद्घाटन समारोह में डीएवीवी की कुलपति प्रो. रेणु जैन, मुख्य अतिथि रहेंगी।

मुख्य वक्ता डीएवीवी के रेक्टर डाॅ. अशोक कुमार शर्मा रहेंगे। समापन समारोह के मुख्य अतिथि डाॅ. एलके त्रिपाठी डीएसडब्ल्यू, डीएवीवी रहेंगे। कांफ्रेंस में पुणे, अहमदाबाद, औरंगाबाद, आगरा, ग्वालियर, भोपाल से विद्वान और शोधार्थी भाग लेने आ रहे हैं। कांफ्रेंस में तकरीबन 70 रिसर्च पेपर प्रस्तुत किए जाएंगे। ये रिसर्च पेपर मीडिया, काॅमर्स, मैनेजमेंट, ह्यूमैनिटीज और साइंस विषय में प्रस्तुत किए जाएंगे। रिसर्च पेपर के संकलन यानी कांफ्रेंस प्रोसीडिंग्स का विमोचन भी कांफ्रेंस में ही होगा।

Must Read- सातवां वेतन आयोग: कर्मचारियों का इंतजार खत्म, अब मिलेगा 38% महंगाई भत्ता! जानें अपडेट्स
कांफ्रेंस के संरक्षण मंडल में सिका एजुकेशनल ट्रस्ट की चेयरपर्सन श्रीमती पद्मिनी खजांची, मैनेजिंग ट्रस्टी डाॅ विजयलक्ष्मी आयंगर, ट्रेजरर ट्रस्टी कार्तिक शास्त्री, ट्रस्टी एसएम अय्यर, ट्र्स्टी एन रविचंद्रन और और कालेज के एडवाइजर पी बाबूजी हैं।