मौसम विभाग ने एक बार फिर से देश के कुछ जिलों में भारी बारिश का रेड अलर्ट जारी कर दिया है। वही कुछ जिलों में लगातार बरसात और बर्फबारी का दौर जारी है। इसकी वजह से तापमान में गिरावट होने से ठंडक में बढ़ोतरी हो रही है। जिससे इन जिलों के आमजन प्रभावित हो रहें है। मौसम वैज्ञानिकों ने भारी बारिश की आशंका जाहिर की वजह यह सामने आई है कि देश के कुछ जिलों में पश्चिम विक्षोभ सक्रिय बन रहा है।

वहीं एक तरफ जहां 10 राज्यों में भारी बारिश का अलर्ट जारी किया गया है। पश्चिम विक्षोभ सक्रिय होने पर मध्य महाराष्ट्र कोकण गोवा आंध्र प्रदेश कर्नाटक में गरज के साथ भारी बारिश होने की संभावना बताई गई है। इसके अलावा 19 नवंबर से बंगाल की खाड़ी में एक लो प्रेशर एरिया निर्मित हो रहा है।

यहां होगी बूंदाबादी

दिल्ली उत्तर प्रदेश उत्तराखंड समेत उत्तर और मध्य भारत के राज्य में तापमान में गिरावट देखी जाएगी। पहाड़ी इलाकों में बर्फबारी का दौर जारी रहेगा। मौसम विभाग के मुताबिक दक्षिण भारत में अभी बारिश का सिलसिला जारी रहेगा। वही कुछ राज्यों में बारिश का दौर जारी रहेंगा। जिससे स्थाई निवासियों को मुश्किलों का सामना और कुछ दिनों तक करना होगा।

दिल्ली और यूपी का तापमान

नई दिल्ली में मौसम की बात करें तो 16 नवंबर को न्यूनतम तापमान 16 डिग्री जबकि अधिकतम तापमान 28 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया जा सकता है। सुबह के वक्त हल्के कोहरे देखने को मिले थे वहीं रविवार तक तापमान में 2 से 3 फीसद की गिरावट रिकॉर्ड की जाएगी। उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में न्यूनतम तापमान 14 डिग्री जबकि अधिकतम तापमान 30 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया जाएगा।

Also Read : श्रद्धा मर्डर केस : अब तक पुलिस को मिले बॉडी के 10 पार्ट्स, जल्द होगा DNA टेस्ट

लखनऊ में सुबह के समय पर कोहरा दिखाई देने लगा।गाजियाबाद में भी तापमान में गिरावट रिकॉर्ड की जाएगी। उत्तर की तरफ से आ रही हवाओं का असर दिखेगा। दरअसल शाम होते ही ठंडी हवा का प्रकोप बढ़ेगा। पछुआ हवा चलने के कारण तापमान में तीन से चार फीसद की गिरावट रिकॉर्ड किया जाएगा।

ऊंची चोटियों पर बर्फबारी हुई तेज

वेस्टर्न डिस्टरबेंस के कारण पछुआ हवा में एक ट्रफ के रूप में देखा जा रहा है। तमिलनाडु के राजा दक्षिण आंतरिक कर्नाटक सहित दक्षिण आंध्र प्रदेश में 16 नवंबर से मध्यम बारिश देखने को मिलेगी। दरअसल हिमालय की ऊंची चोटियों पर पिछले कई दिनों से बर्फबारी तेज हो गई है। कई जगहों पर बारिश भी हो रही है। यहां कई इलाकों में तापमान गिरने से पारा शून्य के नीचे चला गया है।

उत्तर भारत में बन रही है ये संभावना

जम्मू कश्मीर लद्दाख वाली स्थान हिमाचल प्रदेश और उत्तराखंड के कई इलाकों में बर्फबारी के साथ बारिश का पूर्वानुमान जताया है। इसके साथ ही इन जगहों पर तापमान में और गिरावट की संभावना भी जताई गई है जबकि अगले चार-पांच दिनों में पंजाब हरियाणा दिल्ली उत्तर प्रदेश छत्तीसगढ़ मध्यप्रदेश राजस्थान उड़ीसा के राज्य में ठंड बढ़ने का पूर्वानुमान जताया गया है।

राजस्थान में आज बारिश की संभावना जताई गई है जबकि हरियाणा में मौसम साफ रहेगा। मुंबई में अधिकतम तापमान 33 डिग्री जबकि न्यूनतम तापमान 23 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया जाएगा। पंजाब में आज कुछ हिस्सों में बारिश की संभावना जताई गई है। उत्तर प्रदेश में ठंड लगातार बढ़ रही है कोहरा छाए रहने की संभावना है। हल्की बारिश भी हो सकती है। मध्य प्रदेश में मौसम साफ रहेगा। बिहार में कोहरा छाया रहेगा।

Also Read : इंदौर कलेक्टर इलैैया राजा ने ली समीक्षा बैठक, CM हेल्प लाइन और लोक सेवा गारंटी के प्रकरणों का जल्द होगा निराकरण

गरज-चमक के साथ बारिश

अंडमान और निकोबार द्वीप समूह में भारी बारिश और गरज के साथ छींटे पड़ने का अनुमान है। केरल में छिटपुट बौछारें और गरज के साथ छींटे पड़ने की संभावना है। मध्य और पूर्वी भारत में हवा की गुणवत्ता ‘बहुत खराब’ और उत्तरी, पश्चिमी और दक्षिणी भारत में ‘खराब’ रहने की संभावना है। वही, कर्नाटक, तमिलनाडु, लक्षद्वीप, लद्दाख, सिक्किम और अरुणाचल प्रदेश में गरज के साथ छिटपुट वर्षा हो सकती है।

18 नमंबर और 19 नवंबर को होगी बर्फबारी

उच्च अक्षांशों में एक पश्चिमी विक्षोभ 18 नवंबर और 19 नवंबर को जम्मू, कश्मीर, लद्दाख, गिलगित बाल्टिस्तान, मुजफ्फराबाद और हिमाचल प्रदेश में हल्की से मध्यम बारिश या बर्फबारी हो सकती है। इधर, दक्षिण अंडमान सागर और उसके पड़ोस के ऊपर एक साइक्लोनिक सर्कुलेशन मध्य क्षोभमंडल स्तर तक फैला हुआ है। इसके अधिक सक्रिय होने से अगले 24 घंटों के दौरान बंगाल की खाड़ी के दक्षिण पूर्व और उससे सटे अंडमान सागर के ऊपर एक कम दबाव का क्षेत्र विकसित होने की उम्मीद है। वहीं पश्चिम की ओर बढ़ने की संभावना है और धीरे-धीरे शुक्रवार, 18 नवंबर के आसपास बंगाल की दक्षिण खाड़ी के मध्य भागों पर एक दबाव में केंद्रित हो जाएगा। अंडमान और निकोबार द्वीप समूह में 16 नवंबर को अलग-अलग स्थानों पर भारी वर्षा के साथ व्यापक वर्षा की भविष्यवाणी की गई है।