दिल्ली पुलिस श्रद्ध मर्डर केस में लगातार कार्यवाही कर रही है। अब तक महरौली के जंगल से रीड की हड्डी समेत कई पार्ड्स पुलिस बरामद कर चुकी है। इसी के साथ में आरोपी के फ्लैट से मिलें खुन के धब्बे भी सेंपल के लिए भेज दिए है ताकि पता किया जा सके की किसके है। आफताब ने फ्रिज को केमिकल से साफ किया था ताकि पकड़े जाने पर फोरेंसिक जांच को गच्चा दे सके। दिल्ली पुलिस श्रद्धा के पिता को जल्द ही DNA सेंपल के लिए बुलाएगी। जिसके बाद ब्लड सैंपल को और हड्डियों के सैंपल को FLS को भेजा जाएगा, जिसके बाद FSL DNA जांच करेगी।

अब तक की तफ्तीश के बाद पुलिस को शक है कि कत्ल के बाद श्रद्धा के शव के बाथरूम में टुकड़े किये गए थे। साथ ही आरोपी शावर से पानी चलाकर छोड़ देता था ताकि शव आसानी से कट जाए और खून बह जाए। आफताब के साथ FSL टीम उसके फ्लैट पर जांच के दौरान मौजूद थी।

आरोपी का होगा नार्को टेस्ट

इससे पहले दिल्ली की साकेत कोर्ट ने श्रद्धा मर्डर केस के आरोपी आफताब के नार्को टेस्ट की इजाजत दे दी है। दिल्ली पुलिस ने इसके लिए कोर्ट में अर्जी लगाई थी। पुलिस का कहना है कि आफताब पुलिस पूछताछ में को-ऑपरेट नहीं कर रहा था और पुलिस की जांच को भटकाने की कोशिश कर रहा था।

आरी के बारे में नही दी सही जानकारी

दिल्ली पुलिस ने कोर्ट में जो याचिका लगाई थी उसमें कहा गया था कि आफताब श्रद्धा के मोबाइल और कत्ल के लिए इस्तेमाल आरी के बारे में सही जानकारी नहीं दे रहा है। कभी मोबाइल महाराष्ट्र में तो कभी दिल्ली में फेंकने की बात बता रहा है। इसके साथ ही हथियार के बारे में भी सही जानकारी नहीं दे रहा है। दिल्ली पुलिस नार्को टेस्ट के जरिए आफताब से पूरा सच और मोबाइल, हथियार बरामद करना चाहती है।

Also Read : Varun Dhawan और Kriti Sanon अपनी फिल्म भेड़िया के प्रमोशन के लिए पहुंचे इंदौर

मनोरोग विशेषज्ञ की मदद ले रही पुलिस

दिल्ली पुलिस आफताब से पूछताछ के लिए मनोरोग विशेषज्ञ की मदद भी ले रही है। दरअसल जिस तरह से उसने कत्ल की इस वारदात को अंजाम दिया वो बेहद चौंकाने वाला है। जब उससे पूछताछ की जा रही है उस समय उसकी मानसिक स्थिति को समझने के लिए एक मनोरोग विशेषज्ञ भी पुलिस की टीम के साथ होता है।

मई में दिल्ली के महरौली में हुए थे शिफ्ट

आफताब और श्रद्धा मई में दिल्ली के महरौली में एक फ्लैट में शिफ्ट हुए थे। इसके बाद दोनों के बीच 18 मई को झगड़ा हुआ। आफताब ने गला दबाकर श्रद्धा की हत्या कर दी। इसके बाद उसके शव के 35 टुकड़े किए. आफताब ने शव के टुकड़ों को 300 लीटर के फ्रिज में रख दिया। वह शव के एक टुकड़े को फ्रिज से निकालकर देररात में जंगल में फेंकने के लिए जाता था। पुलिस के मुताबिक, श्रद्धा की मौत के बाद जब कोई दूसरी महिला आफताब के फ्लैट पर आती थी, तो वह शव के टुकड़ों को फ्रिज से निकालकर अलमारी में रख देता था, ताकि कोई फ्रिज खोले तो उसे शक न हो।