MP के सबसे बड़े ऑडिटोरियम पर 12 करोड़ खर्च करेगा IDA, जयपाल सिंह चावड़ा ने लिए खास फैसले

इंदौर। इंदौर विकास प्राधिकरण संचालक मण्डल (Indore Development Authority Board of Directors) की बैठक आज सम्पन्न हुई। इस बैठक में जयपालसिंह चावड़ा, मनीष सिंह (Manish Singh) , प्रतिभा पाल (Pratibha Pal) , .के. चौहान, नरेन्द्र पण्डवा, एस.के. मुद्गल,संजय मोहासे, अजय श्रीवास्तव, अधीक्षण यंत्री, पी.एच.ई. विभाग, इन्दौर एवं विवेक श्रोत्रिय, मुख्य कार्यपालिक अधिकारी, इ.वि.प्रा., इन्दौर उपस्थित थे। इस दौरान संचालक मण्डल ने एक अन्य महत्वपूर्ण निणर्य में इन्दौर विकास प्राधिकरण (Indore Development Authority Board of Directors) की विभिन्न योजनाओं में समाविष्ट गृह निर्माण सहकारी संस्थाओं के पक्ष में लगभग 8500 भूखण्ड आवंटित किये।

आपको बता दें कि इन भूखण्डधारियों के निष्पादित लीजडीड के नवीनीकरण के संबंध में आज एक महत्वपूर्ण निर्णय लिया। उन्होंने निर्णय लेते हुए इन्हें संबंधित गृह निर्माण सहकारी संस्था से अनापत्ति की अनिवार्यता से मुक्त किया गया है, जिससे लीज नवीनीकरण का सरलीकरण होकर भूखण्डधारियों का कार्य आसान हो सकेगा।

ALSO READ: 384 लोगों को मिलेगा वीरता पुरस्कार, गोल्डन बॉय Neeraj Chopra का भी नाम शामिल

इस दौरान बताया गया कि, एक अन्य महत्वपूर्ण निर्णय में इंदौर शहर अपनी सांस्कृतिक गतिविधियों के कारण सम्पूर्ण देश में जाना जाता है। सांस्कृतिक गतिविधियों की विभिन्न विधाओं को प्रोत्साहन देकर उनकी गति बढ़ाने के उददेश्य से योजना क्रमांक 97 भाग-4 स्लाईस 4 में ऑडिटोरियम के संबंध में महत्वपूर्ण निर्णय लेते हुए इसकी आंतरिक साज-सज्जा, फर्निचर, साउण्ड सिस्टम, फायर फाईटिंग, ऐयर कंडिशनींग आदि का कार्य प्राधिकरण से ही कराये जाने का निर्णय लिया गया। जिसके लिए 12.00 करोड़ की प्रशासकीय स्वीकृति प्रदान की गई है।

वहीं मुख्यमंत्री की घोषणा के परिपालन में प्राधिकारी की योजना क्रमांक 94 सेक्टर-एफ में अन्तर्राष्ट्रीय स्तर के रवीमिंग पूल के द्वितीय चरण हेतु प्राप्त निविदाओं पर विचार करते हुए न्यूनतम निविदादाता की निविदा स्वीकृत की गई है। प्राधिकारी द्वारा योजना क्रमांक 94 रिंग रोड पर नवनिर्मित पिपल्याहाना फ्लाय ओव्हर के नीचे विकसित चार Play Zone को ऑपरेट एवं मेंटेनेंस हेतु प्रायवेट एजेंसी नियुक्त करने एवं इस बाबद आवश्यक शतों का अनुमोदन किया गया।

ALSO READ: Republic Day 2022 : गणतंत्र दिवस पर जरूर देखें ये देशभक्त की फिल्में, देखे लिस्ट

साथ ही इस बैठक में संचालक मण्डल ने नवीन टी.पी.एस.-1 (ग्राम खजराना 49.279 हेक्टेयर भूमि राशि रू. 75.01 करोड़), टी.पी.एस.-3 (ग्राम तलाबली चांदा, अरण्डीया, मायाखेडी 143.62 हेक्टेयर भूमि राशि रू. 160.34 करोड़), टी पी एस-4 (ग्राम निपानिया व कनाडिया 87.497 हेक्टेयर भूमि राशि रू. 129.05 करोड). टी.पी.एस.-5 (ग्राम कनाडिया 146.731 हेक्टेयर भूमि राशि रू. 201.94 करोड़) एवं टी.पी.एस.-8 (ग्राम भौरासला, कुमेडी व भांग्या 273.353 हेक्टेयर भूमि राशि रू. 651.05 करोड़) इस प्रकार लगभग 1700 एकड़ भूमि पर प्रस्तावित इन योजनाओं के अधोसंरचना के विकास कार्य हेतु राशि रूपये 1207.39 करोड़ की प्रशासकीय स्वीकृति प्रदान की गई।

इस दौरान एक और महत्वपूर्ण निर्णय लिया गया जिसके चलते योजना क्रमांक 134 में प्लाट नंबर आर.सी.-11 पर सीनियर सिटीजन बिल्डिंग के निर्माण कार्य राशि रूपये 15,16,30,100/- हेतु प्राप्त निविदाओं पर विचार करते हुए न्यूनतम निविदादाता की निविदा स्वीकृत की गई है। इस योजना के अंतर्गत वरिष्ठ नागरिकों के लिये सर्वसुविधायुक्त आवासीय प्रकोष्ठ बनाने का प्रावधान है, जिसमें वरिष्ठ नागरिकों हेतु उनकी आवश्यकतानुसार सुविधाओं का समावेश किया गया है।

ALSO READ: डिज़्नी प्लस हॉटस्टार पर देखिए इस बाउंटी हंटर के एडवेंचर

साथ ही इस बैठक में निर्णय हुआ कि, MR-4 से ISBT MR-10 कोजोड़ने वाली 30 मीटर चौड़ी एवं 1.7 किलोमीटर लम्बाई में सीमेंट कांक्रीट सड़क का निर्माण नगर निगम के सहयोग से करवाये जाने का निर्णय लिया गया है। साथ ही प्रस्तावित कार्य प्राधिकारी की किसी भी योजना में नही होने एवं महत्वपूर्ण मार्ग होने से इस बाबद राशि रूपये 13.6 2 करोड़ नगर निगम को उपलब्ध कराये जाने का निर्णय लिया गया।

आपको बता दें कि, मुख्यमंत्री की घोषणा अनुरूप योजना अब क्रमांक 94 से महालक्ष्मी नगर पहुँच मार्ग लम्बाई लगभग 1.3 किलोमीटर हेतु निर्माण किये जाने का निर्णय लिया गया है। इस बाबद प्राप्त निविदा राशि रूपये 4,22,54,870/- के कार्य हेतु प्राप्त निविदाओं पर विचार करते हुए न्यूनतम निविदादाता की निविदा स्वीकृत की गई। इसके साथ ही शहर के हित में निर्णय लेते हुए योजना क्रमांक 78-1 लोहा मण्डी से ए.बी.रोड़ जोड़ने वाले 30 मीटर चौड़े सीमेन्ट कांक्रीट रोड़ निर्माण करने का निर्णय लिया गया है। संचालक मण्डल द्वारा विगत समय में प्राधिकरण परिवार के कर्मचारियों के असमायिक निधन होने से पांच व्यक्तियों को अनुकम्पा नियुक्ति की स्वीकृति प्रदान की गई।