एच एस प्रणोय और पी वी सिंधु मलेशिया मास्टर्स स्पर्धा के क्वार्टर फाइनल में पहुंचे

मलेशिया खुली सुपर-750 बैडमिंटन स्पर्धा में क्वार्टर फाइनल खेलकर 5 जुलाई को विश्व बैडमिंटन रैंकिंग में टॉप -20 में जगह बनाने के बाद मलेशिया मास्टर्स सुपर-500 स्पर्धा में भी भारत के एच एस प्रणोय ने श्रेष्ठ प्रदर्शन का सिलसिला जारी रखा है

मलेशिया खुली सुपर-750 बैडमिंटन स्पर्धा में क्वार्टर फाइनल खेलकर 5 जुलाई को विश्व बैडमिंटन रैंकिंग में टॉप -20 में जगह बनाने के बाद मलेशिया मास्टर्स सुपर-500 स्पर्धा में भी भारत के एच एस प्रणोय ने श्रेष्ठ प्रदर्शन का सिलसिला जारी रखा है, विश्व नंबर 19 एच एस प्रणोय और विश्व नंबर 7 पी वी सिंधु ने मलेशिया मास्टर्स बैडमिंटन स्पर्धा के क्वार्टर फाइनल में जगह बनाई, बी साईंप्रणीत और पारुपल्ली कश्यप दूसरे दौर में हार गए, क्वालालम्पुर में एच एस प्रणोय ने दूसरे दौर में विश्व नंबर 16 ताईपेई के वांग त्झु वेई को 44मिनट में 21-19,21-16से और पहले दौर में नीदरलैंड्स के ब्राइस लेवरडेज को 41मिनट में 21-19,21-14से हराया.

वांग ने पहले दौर में सातवें क्रम के इंडोनेशिया के जोनाटन क्रिस्टी को 16-21,21-18,27-25से एक घंटे 33मिनट में हराकर उलटफेर किया था,प्रणोय ने पहले गेम में 2-5और 3-7से पिछड़ने के बाद 9-9की बराबरी की, 9-11से पीछे होकर 13-13कर जीते, दूसरे गेम में भी प्रणोय ने 2-4और 5-10 को 10-10किया, वांग ने 11-10की बढ़त ली, फिर प्रणोय 11-11कर 12-11सेआगे होकर जीत गए, प्रणोय का क्वार्टर फाइनल विश्व नंबर 14 जापान केंता त्सुमेयामा से है,केंता त्सुमेयामा ने दूसरे दौर में विश्व नंबर 2 हमवतन केंतो मोमोता को 21-15,21-16से हराकर उलटफेर किया, प्रणोय और केंता में अब तक हुए तीन में से दो मुकाबले प्रणोय ने जीते हैं, पिछला मैच मलेशिया मास्टर्स में ही 2020में हुआ था जो प्रणोय ने 21-9,21-17 से जीता था.

Read More : किस भाव में बिक रहा है आज पेट्रोल और डीजल, जानने के लिए यहां देखे

विश्व नंबर 20 बी साईंप्रणीत, विश्व नंबर 41चीन के लि शि फेंग से 14-21,17-21से42 मिनट में हार गए, सांईप्रणीत ने पहले दौर में ग्वाटेमाला के 35 वर्षीय केविन कोर्डोन को21-8,21-9से हराया था, विश्व नंबर 36पी कश्यप, छठवें क्रम के इंडोनेशिया के एंथोनी सिनुसुका जिंटिंग से 10-21,15-21से 34मिनट में हारे, कश्यप ने पहले दौर में इंडोनेशिया के ही टोमी सुगियार्तो को 16-21,21-16,21-16से हराया था, जबकि कश्यप की पत्नी साइना नेहवाल, विश्व नंबर 20 दक्षिण कोरिया की किम गाएयुन से पहले दौर में 16-21,21-17,21-14से 50मिनट में हार गई , विश्व नंबर 24 साइना , किम से लगातार दूसरी बार पहला गेम जीतने के बाद ही हारी हैं.

सिंधु ने चीनी ही बिंग्जिआओ के बाद झांग यि मान से भी बदला लिया सातवें क्रम की पी वी सिंधु ने विश्व नंबर 32च की न की झांग यि मान को 21-12,21-10से मात्र 28मिनट में आसानी से हराकर पिछली हार का बदला लिया, सिंधु, इस साल जर्मन खुली स्पर्धा में झांग से पहले दौर में 14-21,21-15,14-21से हार गई थी, सिंधु ने पहले दौर में भी चीन की ही ही बिंग्झिआओ को 21-13,17-21,21-15से 57 मिनट में हराकर पिछली पराजय का बदला लिया, सिंधु की ही पर 19वें मुकाबले में नवीं जीत हैं,वे ही बिंग्जिआओ से तीन सप्ताह पहले इंडोनेशिया खुली स्पर्धा के पहले दौर में 14-21,18-21से हार गई थी.

Read More : उर्फी जावेद के आश‍िक ने खुद को मार ली गोली, वीडियो वायरल

सिंधु इस जीत से खुश हैं, सिंधु ने अपने जन्मदिन 5 जुलाई के अगले दिन यह जीत का तोहफा लिया,27 वर्षीय सिंधु से बैडमिंटन एशिया टेक्नीकल समिति ने एशियाई व बैडमिंटन स्पर्धा के सेमीफाइनल में जोर्डन के अंपायर द्वारा गलत निर्णय लेकर प्रतिद्वंद्वी जापान की अकाने यामागुची को एक पेनल्टी अंक देने पर माफी मांगी है, सिंधु ने पक्षपात पूर्ण अंक देने तनाव में ही बढ़त लेकर भी मैच गंवा दिया था, बैडमिंटन इतिहास में पहली बार सर्विस में देरी करने पर चेतावनी दिए या कार्ड बताए बिना ही अंपायर ने प्रतिद्वंद्वी को पेनल्टी अंक दे दिया था जिसकी शिकायत सिंधु ने लिखित में की थी, जबकि चेतावनी देनी भी थी तो अकाने यामागुची को देनी थी जिसकी वजह से सर्विस में देरी हुई थी.

सिंधु का कहना है कि यदि से अनुचित निर्णय नहीं दिया जाता तो वे एशियाई स्पर्धा में पहली बार फाइनल खेलती,
सिंधु का क्वार्टर फाइनल 8जुलाई को परम्परागत प्रतिद्वंद्वी विश्व नंबर दो ताइपेई की ताई त्झी यिंग से हैं जिससे वे पिछले सप्ताह ही यहीं मलेशिया खुली स्पर्धा के भी क्वार्टर फाइनल में तीन गेमों में हारी हैं, अब तक हुए 21मुकाबलों में सिंधु ने सिर्फ 5 और ताई ने 16 मैच जीते हैं, सिंधु लगातार छह मैचों में ताई से हारी हैं, विश्व बैडमिंटन स्पर्धा 2019के क्वार्टर फाइनल में जीत के बाद सिंधु को ताई त्झी यिंग पर जीत का इंतजार है.

पहले क्रम की जापान की अकाने यामागुची ने एशियाई विजेता चीन की वांग झि यि को दूसरे दौर में 12-21, 21-13,21-12 से हराया, विश्व नंबर एक अकाने की विश्व नंबर 11 वांग पर यह पहली जीत है, इससे पहले हुए तीनों मुकाबले में अकाने हार गई थी महिला युगल में सभी भारतीय जोड़ी पहले दौर में हारी महिला युगल में भारत की साढ़े चार जोड़ी खेली लेकिन कोई भी पहले दौर से आगे नहीं बढ़ सकी, विश्व नंबर 24 अश्विनी पोनप्पा और सिकी रेड्डी भी अनजान जोड़ी विश्व नंबर 58 इंडोनेशिया की फेब्रियाना दविपुजी कुसुमा और अमेलिया चाहया प्रतिवि से 19-21, 21-18,16-21से हार गई.

गायत्री गोपीचंद के अनफिट होने से भारतीय टीम चयन मुकाबले अप्रैल के बाद विश्व नंबर 41 ट्रेसा जोली और गायत्री गोपीचंद पहली बार कोर्ट में उतरी लेकिन मलेशिया की पैर्ली तान और थिनाह मुरलीथरन से 14-21,14-21से 33मिनट में आसानी से हार गई, विश्व नंबर 10 इस मलेशियाई जोड़ी ने दूसरे दौर में चौथे क्रम जापान की युकी फुकुशिमा और सयाका हिरोता को 21-14, 21-19 से हराकर उलटफेर किया , विश्व नंबर दो युकी और सयाका ने पहले दौर में भारत की शिखा गौतम और अश्विनी भट को 21-7,21-10 से हराया था.

पांचवें क्रम की जापान की ही मायु मत्सुमोतो और वकाना नागाहोरा, विश्व नंबर 37 मलेशिया की अन्ना चिइंग यिक चेओंग और तैह मेरी झिंग से 11-21,15-21से दूसरे दौर में हार गई , मिश्रित युगल के दूसरे दौर में नीदरलैंड्स के रोबिन टबेलिंग और सेलेना पैक ने विश्व विजेता विश्व नंबर एक थाईलैंड के डेचपोल और सपसिरी को 17-21,21-15,21-13 से हराकर उलटफेर किया.