दुनिया के बाजारों में क्रिसमस की तैयारियां जोरो शोरो से देखने को मिल रही है। विश्वभर में धूमधाम से मनाया जाता है। मार्केट में सैंटा वाली ड्रेस, क्रिसमस ट्री, लाइट्स, केक, चॉकलेट्स, गिफ्ट्स के तमाम ऑप्शन मौजूद हैं। पूरी दुनिया में मनाए जाने वाले इस त्योहार के लिए लोग काफी पहले से तैयारियां शुरू कर देते हैं। यूं तो पूरी दुनिया में क्रिसमस पर लोग परिवार वालों से मिलते हैं, बेहतरीन खाना खाते है, कैरल गाते हैं और चर्च में जाते हैं। लेकिन कुछ जगहों पर इस त्योहार को कुछ अलग ढंग से भी मनाया जाता है।

रोलर स्केट- वेनेजुएला की राजधानी काराकास में क्रिसमस की सुबह भारी भीड़ रोलर स्केट्स पर वहां की सड़कों पर दिखाई देती है।

बैड सैंटा– ऑस्ट्रिया और जर्मनी में क्रैंपस को सैंटा का खराब वर्जन माना जाता है। वह सैंट निकोलस का दुष्ट साथी है जो क्रिसमस से ठीक पहले आता है और खराब बर्ताव वाले बच्चों की सड़क पर तलाश करता है।

कॉबवेब क्रिसमस– यूक्रेन में लोग सजावट के लिए लोग नकली मकड़ी के जाले जैसी आकृति से घरों को सजाते हैं। इसमें तरह तरह के सजावट की चीजों का इस्तेमाल करते हैं। ये परंपरा एक गरीब विधवा की लोककथा से जुड़ी हुई है जो कि अपने बच्चों का खर्च नहीं उठा सकती थी।

क्रिसमस ट्री में अचार छिपाना– जर्मनी में लोग क्रिसमस ट्री के बीच में कहीं अचार छिपा देते हैं और बच्चों के ये ढूंढना होता है। जो भी इसे ढूंढ लेता है उसे इनाम दिया जाता है।

फेस्टिव सौना- फिनलैंड के कई घरों में सौना बने हुए हैं। यहां क्रिसमस की एक परंपरा है। जहां कि अपने पूर्वों के पवित्र स्थान माने जाने वाले सौना में सभी कपड़े उतारकर लंबे समय तक सौना में बैठे रहना होता है।