गुजरता विधानसभा चुनाव की तारीखे नजदीक आती जा रही है। वैसे वैसे सभी राजनीतिक दल अपनी अपनी सहूलियत के मुताबिक बयान बाजी का तुल पकड़ता जा रहा है। दिल्ली मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने यूनिफॉर्म सिविल कोड को लेकर एक बड़ा बयान दिया है। इसके लिए उन्होंने एक कमेटी भी बना ली है।

ये दिया बयान

इस सवाल के जवाब में अरविंद केजरीवाल ने कहा कि, उनकी नियत खराब है। संविधान के आर्टिकल 44 में साफ-साफ लिखा है कि यूनिफॉर्म सिविल कोड लागू करना सरकार की जिम्मेदारी है तो सरकार को यूनिफॉर्म सिविल कोड बनाना चाहिए। इसे ऐसा बनाना चाहिए जिसमें सभी समुदायों की रजामंदी हो। उन्होंने कहा कि, सभी समुदायों को साथ लेकर यूनिफॉर्म सिविल कोड बनना चाहिए।

3 दिन पहले बनाई एक समिति

अरविंद केजरीवाल ने बीजेपी पर भी आरोप लगाए। उन्होंने कहा कि, भारतीय जनता पार्टी ने उत्तराखंड के चुनाव के पहले एक समिति बना दी. उत्तराखंड का चुनाव जीतने के बाद अब वह समिति अपने घर चली गई

Also Read : Indore: रेलवे डीआरएम रवीश कुमार ने सलाहकार समिति के सदस्य संजय बाकलीवाल के साथ की चर्चा

अब गुजरात चुनाव के 3 दिन पहले एक समिति बनाई, अब यह भी चुनाव के बाद अपने घर चली जाएगी। उन्होंने कहा कि मध्य प्रदेश में क्यों नहीं बनाते, उत्तर प्रदेश में क्यों नहीं बनाते।

देश में कर देगे लागू

केजरीवाल ने आगे कहा कि, अगर इनकी नीयत यूनिफॉर्म सिविल कोड लागू करने की है तो देश में क्यों नहीं बनाते। देश में लागू कर दें. ये लोकसभा चुनाव का इंतजार कर रहे हैं क्या? केजरीवाल ने कहा कि पहले आप जाकर उनसे पूछना कि केजरीवाल कह रहे हैं कि आपको यूनिफॉर्म सिविल कोड लागू नहीं करना है, आपकी नीयत खराब है।