बजट के लिए पहली बार बदलेगा नियम, सरकार ने दिए संकेत

जब उनसे पूछा गया कि क्या सरकार फरवरी के पहले दिन बजट पेश करने की परंपरा के साथ जाएगी, या इसमें कोई बदलाव हो सकता है, क्योंकि एक फरवरी को शनिवार है और यह एक गैर-कार्य दिवस है।

0
51
Budget

नई दिल्ली: मोदी सरकार ने आम बजट पेश करने का दिन 1 फरवरी कर दिया था। 2017-18 में पहली बार आम बजट 1 फरवरी को पेश किया गया था। इस बार बजट पेश करने को लेकर असमंजस चल रहा है। कयास लगाए जा रहे है कि वित्त वर्ष 2020-21 का बजट 1 फरवरी को पेश ना होकर 3 फरवरी को पेश होगा क्योकि 1 फरवरी को शनिवार है।

इस असमंजस पर सरकार कि ओर से संसदीय कार्य मंत्री प्रहलाद जोशी ने जवाब दिया है। उन्होंने कहा कि बजट पेश करने की परंपरा जारी रहेगी। जब उनसे पूछा गया कि क्या सरकार फरवरी के पहले दिन बजट पेश करने की परंपरा के साथ जाएगी, या इसमें कोई बदलाव हो सकता है, क्योंकि एक फरवरी को शनिवार है और यह एक गैर-कार्य दिवस है।

इस पर जोशी ने जवाब देते हुए कहा कि “परंपरा जारी रहेगी।” इसके साथ ही आर्थिक सर्वेक्षण 31 जनवरी को होने की संभावना है। साल 2015-16 के बाद पहली बार होगा, जब बजट शनिवार को पेश किया जाएगा। यहां इससे पहले फरवरी के आखिरी सप्ताह में बजट पेश किया जाता था।

गौरतलब है कि मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल में 5 जुलाई को आम बजट पेश किया गया था। इसके एक दिन पहले 4 जुलाई को हुए आर्थिक सर्वेक्षण 2019 में कहा गया था, ” भारत को अपने सकल घरेलू उत्पाद का सात से आठ फीसदी सालाना बुनियादी ढांचे पर खर्च करने की जरूरत है, जो 2030 तक 10 अरब डॉलर की अर्थव्यवस्था बन जाएगा।”

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here