देश के तीन राज्यों गुजरात, हिमाचल प्रदेश और दिल्ली में चुनावों की वोटिंग हो चुकि है। वही, एग्जिट पोल के रूझान भी आने शुरू होने लग गए है। जिसमें गुजरात में भारतीय जनता पार्टी (BJP) 7वी बार सरकार बनाती हुई दिख रही है। वही हिमाचल प्रदेश में कांग्रेस (Congress) और बीजेपी के बीच कांटे की टक्कर दिख रही है। इधर, देश की राजधानी दिल्ली में आम आदमी पार्टी (AAP) बाजी मारती हुई नजर आ रही है।

गौरतलब है कि, गुजरात (Gujarat) और हिमाचल प्रदेश (Himachal Pradesh) में विधानसभा (Assembly Elections) चुनाव हुए थे। वही दिल्ली (Delhi) में नगर निगम चुनाव (MCD) हुए थे। गुजरात में त्रिकोणीय मुकाबला था, जो आप, बीजेपी और कांग्रेस, वहीं, हिमाचल में कांग्रेस और बीजेपी में सीधे कांटे की टक्कर, राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में बीजेपी और आप के बीच मुकाबला नजर आया। दोनों विधानसभा के नतीजे 72 घंटे बाद यानि 8 दिसंबर को आएंगे। वही दिल्ली एमसीडी का रिजल्ट 7 दिसंबर को आएंगे।

1. गुजरात विधानसभा का गणित

तीन एग्जिट पोल के मुताबिक गुजरात में भाजपा की रिकॉर्ड 7वीं बार बहुमत की सरकार बनने का अनुमान है। भाजपा को 117 से 148 सीटें मिलने का दावा किया जा रहा है। वहीं, 2017 के विधानसभा चुनाव की बात करें तो भाजपा को तब 99 सीटें मिली थीं। यानी भाजपा अपने पिछले प्रदर्शन से बेहतर करती नजर आ रही है।

इधर कांग्रेस को एक बार फिर झटका लगने का अनुमान है। कांग्रेस को तीन सर्वे में 30 से 51 सीटें मिलने का अनुमान जताया गया है। पिछली बार कांग्रेस को 77 सीटें मिली थीं। वहीं आम आदमी पार्टी अपने दांवों के विपरीत प्रदर्शन करती नजर नहीं आ रही है। यहां पार्टी 3 से 13 सीट के साथ खाता खोलती जरूर नजर आ रही है।

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की पार्टी आप भी इस बार यहां जोर-शोर से लगी हुई है। ऐसे में मुकाबला त्रिकोणीय भी हो सकता है। अब देखना ये है कि 8 दिसंबर को जब मतगणना होगी तो क्या भाजपा रिकॉर्ड 7वीं बार सरकार बनाएगी या कांग्रेस और आप सत्ता में सेंध लगाने में कामयाब हो जाएंगीं।

2. हिमाचल प्रदेश में किसकी सरकार

एग्जिट पोल के मुताबिक, पहाड़ी राज्य हिमाचल प्रदेश में भाजपा और कांग्रेस के बीच कांटे का मुकाबला है। पांच एजेंसी के सर्वे में भाजपा 32 से 40 के बीच यानी बहुमत के करीब दिख रही है, लेकिन कांग्रेस का भी आंकड़ा बहुमत को छूता नजर आ रहा है।

पांचों सर्वे में कांग्रेस को भी 27 से 40 के बीच सीटें मिलने का अनुमान जताया गया है। यानी भाजपा और कांग्रेस के बीच मुकाबला लगभग बराबरी का है। वहीं आम आदमी पार्टी सिर्फ एक सर्वे में एक सीट लाती दिख रही है।

एग्जिट पोल पर हिमाचल प्रदेश के CM जयराम ठाकुर ने कहा कि अधिकांश एक्जिट पोल में यह देखने को मिल रहा है कि हिमाचल में भाजपा सरकार बनने जा रही है। 1-2 जगह ऐसी हैं जहां कांटे की टक्कर दिखाई जा रही है। मुझे लगता है कि हमें 8 तारीख यानी नतीजों के दिन का इंतजार करना चाहिए।

बता दें, इसी साल हुए उप चुनाव में कांग्रेस ने अच्छा प्रदर्शन किया था। ऐसे में कांग्रेस जीत का दावा कर रही है। आम आदमी पार्टी भी यहां दावा ठोंक रही है। अब देखना ये है कि 8 दिसंबर को मतगणना के दिन किसकी सरकार बनती है। भाजपा अगर वापसी करती है तो राज्य के 35 साल के इतिहास में ऐसा पहली बार होगा, जब कोई सत्ताधारी पार्टी दोबारा सरकार बनाएगी।

वहीं कांग्रेस की सरकार बनती है तो राज्य में हर पांच साल में सरकार बदलने का ट्रेंड बना रहेगा। भाजपा और कांग्रेस के बीच आम आदमी पार्टी सेंध लगाने में कामयाब हो पाएगी या नहीं, ये भी 8 दिसंबर को तय हो जाएगा।

3. दिल्ली एमसीडी का गणित

एग्जिट पोल के अनुसार दिल्ली MCD चुनाव में AAP बीजेपी से दिल्ली MCD की सत्ता छीनती दिख रही है। एग्जिट पोल के अनुसार अरविंद केजरीवाल की आम आदमी पार्टी पहली बार दिल्ली नगर निगम में बंपर बहुमत के साथ अपनी सरकार बनाती दिख रही है। दिल्ली में अभी सातों सांसद बीजेपी के हैं, एग्जिट पोल के अनुसार इनमें से सिर्फ मनोज तिवारी के संसदीय क्षेत्र में बीजेपी का प्रदर्शन AAP से अच्छा रहा है। बाकी 6 सीटों पर AAP बीजेपी को करारी शिकस्त देती दिख रही है।

AAP को 250 सीटों में से 149 से लेकर 171 के बीच सीटें मिलने के आसार हैं। वहीं बीजेपी को 69 से 91 सीटें मिलती दिख रही है. इसी के साथ बीजेपी 15 साल के बाद MCD की सत्ता से बाहर होती दिख रही है।

कांग्रेस को 3-7 सीटें मिलती दिख रही है. जबकि अन्य को 5 से 9 सीटें मिल सकती हैं। बता दें कि MCD में सरकार बनाने के लिए किसी भी पार्टी को 126 सीटें चाहिए।