उपभोक्ता संतुष्टि के लिए हर अधिकारी प्रयास करें – नरवाल

0

इंदौर: बिजली कंपनी के इंदौर, रतलाम, देवास, उज्जैन, खंडवा, बुरहानपुर शहरों के जोन एवं अन्य स्थानों के वितरण केंद्रों कुल 432 स्थानों पर स्वच्छता के लिए सघनता से प्रयास किए जाए। इसके लिए पर्याप्त राशि मुख्यालय से मिलेगी। उपभोक्ताओं एवं कर्मचारियों को कार्यालयों में स्वच्छता का अहसास होगा। गर्मी का मौसम प्रारंभ हो चुका हैं, हर दफ्तर में पानी का पर्याप्त प्रबंध हो, पानी खरीदना भी पड़े तो व्यवस्था की जाएगी। ग्रिड में अर्थिंग के लिए भी पानी का पूरा प्रबंध होगा, ताकि आपूर्ति ठीक रहे।

मप्रपक्षेविविकं के प्रबंध निदेशक श्री विकास नरवाल ने समय सीमा बैठक में बुधवार दोपहर ये निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि गर्मी में आबादी क्षेत्रों में बिजली की मांग काफी बढ़ेगी, इस अनुरूप आपूर्ति का फील्ड अधिकारी ध्यान रखे। ग्रिड पर अर्थिंग के लिए पानी पर्याप्त रखा जाए, नल कनेक्शन ले, बोरिंग कराए, ये दोनों इंतजाम नहीं हो तो पानी टैंकर के माध्यम से लिया जाए, टैंकर वाले को वाजिब भुगतान किया जाए। हर जोन, वितरण केंद्र को स्वच्छ परिसर कायम रखने के लिए मुख्यालय से पर्याप्त राशि मिलेगी। श्री नरवाल ने कहा कि ट्रांसफार्मर के फेल रेट कम किए जाए, इसकी राज्य स्तर पर मानिटरिंग हो रही है। हमें यह दर मौजूदा 9 फीसदी से अगले एक साल में 5 फीसद तक लाना है। श्री नरवाल ने आईटी सेक्शन, अकाउंट सेक्शन, कामर्शियल सेक्शन, परचेज सेक्शन, वर्क्स सेक्शन, प्रोजेक्ट सेक्शन के प्रभारियों को लक्ष्य के अनुरूप व पूर्ण पारदर्शिता, गुणवत्ता के साथ सभी कार्य करने के निर्देश दिए। श्री नरवाल ने कहा कि उपभोक्ता को हमारे जोन व वितरण केंद्र पर आने पर पूरी संतुष्टी मिले, इस तरह के प्रयास जेई, एई, डीई को करना चाहिए। श्री नरवाल ने कहा कि इंदौर शहर से बाहर करीब बीस ग्रिड बनाए जाएंगे। इसमें से सबसे ज्यादा आगर में होंगे। बैठक में डायरेक्टर श्री मनोज झंवर, एक्जिक्यूटिव डायरेक्टर श्री गजरा मेहता, सीवीओ श्री कैलाश शिवा, चीफ इंजीनियर श्री सुब्रतो राय, श्री एसएल करवाड़िया, श्री एसआर बमनके, श्री एसआर खत्री, श्री पुनीत दुबे आदि ने भी विचार रखे।

बकाया बिल राशि जमा कराने की अपील

मप्रपक्षेविविकं के प्रबंध निदेशक श्री विकास नरवाल ने मालवा और निमाड़ के बिजली उपभोक्ताओं से बिल राशि जमा कराने की अपील की है। उन्होंने बताया कि इंदौर शहर में करीब सवा दो लाख एवं कंपनी क्षेत्र में करीब सात लाख ऐसे ग्राहक हैं, जिन्होंने तय अवधि खत्म होने तक बिल नहीं भरा है। उन्होंने कहा कि उपभोक्ता जल्दी से जल्दी बिल राशि अदा करे एवं कनेक्शन काटने की अप्रिय कार्रवाई से बचे।