राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में हवा का गुणवत्ता स्तर बहुत खराब से बहुत गंभीर की श्रेणी में पहुंच चुका है। राजधानी दिल्ली और उससे लगे हुए अन्य राज्यों के जिलों के विभिन्न इलाकों से खेतों में पराली जलाए जाने की वजह से यह समस्या लगभग हर वर्ष दिल्ली के मौसम में देखने को मिलती है। दिल्ली में प्रदूषण की स्थिति इतनी गंभीर है कि वहां रहने वाले लोगों के लिए अब सांस लेना भी दुश्वार होता जा रहा है। राजधानी दिल्ली के वातावरण में इस तरह बढ़ते जानलेवा प्रदूषण की वजह से मामले की गंभीरता को देखते हुए दिल्ली सरकार अब सख्त कदम उठाने को मजबूर हो चुकी है।

Also Read-Zomato App Business Idea : जोमैटो के लिए करें work from home, कमाएं 25 से 30 हजार रुपए महीना

ट्रकों की एंट्री पर लगाई रोक

राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में बढ़ते प्रदूषण से चिंतित दिल्ली सरकार ने अब कड़े कदम उठाना शुरू कर दिया है। सूत्रों से प्राप्त जानकारी के अनुसार राजधानी दिल्ली में ट्रकों की एंट्री पर प्रतिबंध लगा दिया गया है, केवल सीएनजी और इलेक्ट्रिक ट्रकों को ही राजधानी दिल्ली में प्रवेश की अनुमति दी गई है। इसके साथ ही आपातकालीन सेवा वाहन के साथ ही डीजल गाड़ियों में BS-6 को राजधानी दिल्ली में प्रवेश की अनुमति रहेगी।

Also Read-MP News : बैतूल जिले में देर रात बस और कार की भयानक भिड़ंत में 11 मजदूरों की मौत, एक गंभीर घायल

50 फीसदी कर्मचारियों को दिया वर्क फ्रॉम होम

राजधानी में बढ़ते प्रदूषण के चलते दिल्ली सरकार ने अपने करीब 50 फीसदी कर्मचारियों को वर्क फ्रॉम होम देकर घर भेज दिया है। इसके साथ ही दिल्ली सरकार के द्वारा प्राइवेट दफ़्तरों के लिए भी एडवाइज़री जारी की जा रही है, जिसके पालन के लिए दिल्ली सरकार के द्वारा सभी प्रायवेट संस्थानों से अपील भी जा रही है ।