ED ने PFI पर कसा शिकंजा, मनी लॉन्ड्रिंग मामले में भेजा समन

0
ED

नई दिल्ली। मनी लाॅन्ड्रिंग मामले में प्रवर्तन निदेशालय की ओर से पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया (पीएफआई) और उससे जुड़े एक एनजीओ को भी समन भेजा गया है। साथ ही नागरिकता संशेधन कानून को लेकर उत्तरप्रदेश में हुए हिंसक प्रदर्शनों की कड़ी प्ीएफआई से जोड़ी गई है।

गौरतलब हे कि ईडी द्वारा एक रिपार्ट में दावा किया गया है हि पीएफआई की ओर से 73 बैंक खातों में बड़ी राशी ट्रांसफर की गई थी। जिसमें देश के कई नामी वकीलों के नाम भी शामिल थे। गृह मंत्रालय को लिखे पत्र में ईडी ने बैंक खातों में ट्रांसफर पैसा और हिंसा की तारीखों के बीच संबंध जोड़ने का प्रयास किया है। मालूम हो दिसंबर 2019 में यूपी में हुए सीएए के खिलाफ हो रहे प्रदर्शनों ने हिंसक रूप ले लिया था।

ईडी ने वत्र में संशोधित कानून के यूपी में हुए प्रदर्शन और पीएफआई के बीच सीधा संबंध बताया है। साथ ही बैंक खातों में धन जमा करने की तारीखों और सीएए विरोध की तारीखों के बीच संबंध दिखाया है।

वहीं इस मामले में कांग्रेस के वरिष्ठ नेता कपिल सिब्बल का नाम भी सामने आया था। जिस पर उन्होने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर स्पष्टीकरण भी दिया था और सीधे तौर पर इन आरोपों को खारिज कर दिया था। सिब्बल ने कबताया कि उन्होंने हादिया का केस लड़ा था, जिसके बदले उन्होंने 2017 और 2018 के बीच प्रोफेशनल फीस ली थी, लेकिन सीएए से इसका कोई संबंध नहीं है।